भोपाल, जेएनएन। मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले में आरोपित श्वेता विजय जैन और आरती दयाल से आयकर विभाग में हुई लंबी पूछताछ में ऐसे अधिकारियों व अन्य लोगों की जानकारी सामने आई है, जिनके बीच लाखों का लेनदेन हुआ। निशाने पर कई बड़े अधिकारी भी आ गए हैं। जल्द ही इनसे पूछताछ हो सकती है। विभाग की खुफिया, बेनामी और इंवेस्टीगेशन शाखा इनके खिलाफ वित्तीय लेनदेन के सुबूत जुटा रही हैं।

इंवेस्टीगेशन, खुफिया और बेनामी विंग ने तेज की छानबीन

प्रदेश में करीब चार महीने से हनी ट्रैप मामला सियासी और प्रशासनिक हलकों के साथ मीडिया की सुर्खियों में बना हुआ है। आयकर विभाग की बेनामी एवं इंवेस्टीगेशन विंग अब अधिकारियों को ब्लैकमेल कर लाखों रुपये ऐंठे जाने की पुष्टि करने में जुटी है। मामले की प्रमुख आरोपित श्वेता विजय जैन से सोमवार को हुई पूछताछ के दौरान भी विभाग का फोकस इसी बात पर रहा। मंगलवार को विभाग के समक्ष आरती दयाल को भी पूछताछ के लिए पेश किया गया। मामले की जांच कर रहे एसआइटी (विशेष जांच दल) सभी आरोपितों से पहले ही लंबी पूछताछ कर चुकी है। इसका ब्योरा भी आयकर विभाग को मिल गया है।

एसआइटी ने सौंपे साक्ष्य

बताया जाता है कि एसआइटी ने मामले में चालान पेश होने के बाद आयकर विभाग को अब तक की जांच के संदर्भ में कई तथ्य उपलब्ध कराए हैं। आयकर विभाग वित्तीय लेनदेन के संबंध में आरोपितों से पूछताछ, आरोप पत्र और दस्तावेजों की छानबीन से जरूरी तथ्य जुटाने में लगा है। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वित्तीय लेनदेन के संदर्भ में उनके सामने कई अफसरों के भी नाम हैं, फिलहाल विभाग इन सभी के खिलाफ पुख्ता सुबूत जुटा रहा है।

वित्तीय लेनदेन की होगी जांच

मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ के आयकर इंवेस्टीगेशन विंग के महानिदेशक राजेश टुटेजा ने कहा कि मामले में वित्तीय लेनदेन की जांच की जा रही है। हमारा फोकस केवल वित्तीय लेनदेन और मामले से जुड़े संबंधितों की आय के स्रोत पर है। पैसों के लेनदेन 'मनी ट्रैल' में शामिल सभी लोगों को छानबीन के दायरे में लिया गया है। साक्ष्य मिलने पर अधिकरियों सहित अन्य सभी को पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा।

भगोड़े अखबार संचालक का घर- होटल होगा कुर्क

इंदौर में हनी ट्रैप से जुड़े मामले सहित 55 अपराधों में वांछित एक लाख रुपये के इनामी अखबार संचालक जीतू सोनी (जितेंद्र) की संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई शुरू हो गई है। पुलिस ने सोनी के घर, ऑफिस, होटल सहित इंदौर में कई जगह फरारी संबंधित नोटिस भी चस्पा किए हैं। एमआइजी थाना पुलिस ने होटल माय होम और घर कुर्क करने के लिए कोर्ट में आवेदन दिया है। आरोपित को 13 जनवरी तक हाजिर होने का समय दिया गया था। मंगलवार को पुलिस ने मामले में कोर्ट में आवेदन पेश कर दिया है।

डीआइजी रुचि वर्धन मिश्र ने बताया कि कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है। कोर्ट तारीख तय कर कुर्की के आदेश जारी कर सकती है। गौरतलब है कि जीतू के विरुद्ध हरभजन सिंह की शिकायत पर एक दिसंबर को पहला केस दर्ज किया गया था। हरभजन ने आरोप लगाया कि हनी ट्रैप में गिरफ्तार महिला आरोपितों द्वारा बनाए वीडियो यूट्यूब और अखबार के माध्यम से प्रकाशित कर ब्लैकमेल किया जा रहा है। मामले में जीतू सोनी का बेटा अमित सोनी गिरफ्तार हो चुका है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस