अगर आपको जेल में कैद कर दिया जाए तो आपको शायद ही अच्छा लगे। लेकिन, क्या आप यकीन करेंगे की एक शख्स सिर्फ इस वजह से जेल गया। ताकि वह घरवालों के तानों से बच सके और उसे दिन में तीन बार खाना, रहने के लिए जगह और दोस्त मिल सके। जब पुलिस ने इस शख्स की बात सुनी तो वह भी हैरान रह गई। दरअसल, 52 साल के ज्ञानप्रकाश चोरी के आरोप में जेल गया था। जेल से बाहर आने के बाद उसने एक बाइक चुराई। जब उसने बाइक चुराई तब उसने सीसीटीवी कैमरे के सामने जाकर अपना चेहरा भी दिखाया। बाइक चुराने के बाद भी वह वहां से भागा नहीं बल्कि, वहीं घूमता रहा ताकी पुलिस उसे गिरफ्तार कर ले। 

इस बारे में एसीपी पी असोकन ने कहा कि जेल से बाहर आने के बाद घर वाले उसकी देखभाल नहीं कर रहे थे। उसे भरपेट खाना नहीं दिया जाता था। वह जेल से बाहर आकर बिल्कुल भी खुश नहीं था। ज्ञानप्रकाश ने पुलिस से कहा कि वह जेल से बाहर आकर खुश नहीं था। ज्ञानप्रकाश ने कहा कि कहा कि जेल में बंद रहने के दौरान उसने अपनी लाइफ को बहुत एंजॉय किया। वहां उसे नए दोस्त मिले। समय से नाश्ता दोपहर और रात का खाना मिलता था।

उसने कहा कि घर में आकर उसे ताने सुनने पड़ते थे। जबकि जेल में कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं था जो उसको ताने सुनाए, उसे आलसी कहे या कोई अपशब्द कहे। उसे घर पर खाना नहीं मिलता था साथ ही जेल में बने अपने नए दोस्तों को बहुत याद करता था। वह उन्हें बहुत याद करता था। इसलिए उसने वापस जेल जाने के लिए बाइक चोरी की।

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप