तिरुअनंतपुरम, प्रेट्र। तिरुअनंतपुरम के चिड़ियाघर में एक 33 वर्षीय युवक शेरनी के बाड़े में कूद गया। चिडि़याघर में तैनात गार्ड तुरंत ही हरकत में आ गए और युवक को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। युवक ने शेरनी को उकसाने का प्रयास किया और उसकी ओर बढ़ा। लेकिन गार्ड शेरनी का ध्यान दूसरी ओर खींचने में कामयाब रहे और युवक को बाड़े से बाहर निकाल लिया।

चिड़ियाघर के सूत्रों ने बताया कि युवक की पहचान मुरगन के रूप में हुई है। वह ओट्टाप्पलम का रहने वाला है। दोपहर से पहले करीब पौने बारह बजे मुरगन ने काउंटर से टिकट लिया और सीधे उस बाड़े के करीब पहुंचा, जहां एक दो साल की शेरनी को रखा गया है। वह लोहे के सरियों से बने घेरे पर चढ़ा और फिर बाड़े में कूद गया। इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने अलार्म बजा दिया। युवक को वापस आने के लिए कहा, लेकिन वह शेरनी के करीब जाने लगा। अलार्म बजते ही चिडि़याघर के सतर्क गार्ड वहां पहुंचे। पहले उन्होंने शेरनी का ध्यान हटाकर पिंजरे में बंद किया और मुरगन को बाड़े से बाहर निकाला। बाद में उसे पुलिस को सौंप दिया गया। पुलिस के मुताबिक, मुरगन कुछ दिनों से अपने घर से लापता था। 

दिल्ली में भी हो चुकी है ऐसी घटना

सितंबर 2014 में दिल्ली के चिडि़या घर में सफेद बाघ के बाड़े में एक युवक हिमांशु फिसल कर गिर गया था। बाड़े में गिरे युवक को सफेद बाघ ने मार डाला था। बाघ ने पहले उसपर हमला नहीं किया था। जब युवक ने पत्थर फेंके तब बाघ ने उसपर हमला किया था।

By Manish Negi