आदित्य सिंह, महू (इंदौर)। फिल्म पैडमैन अब रिलीज हो चुकी है। इसके कुछ दृश्य कालाकुंड में भी फिल्माए गए हैं। फिल्म के रिलीज होने की खबर सुनकर गांव वाले काफी खुश हैं। हालांकि सामाजिक न्याय के विषय पर बनी फिल्म की टीम ने इस गांव के साथ बेरुखी भी दिखाई। जिले के पिछड़े गांवों में शुमार करीब साढ़े 400 आबादी वाला गांव कालाकुंड के प्राकृतिक दृश्य शानदार हैं।

विंध्याचल की वादियों में बसे इस गांव का छोटा-सा रेलवे स्टेशन भी लोगों के आकर्षण का केंद्र रहा है। यही वजह रही कि आसपास की लोकेशन की जानकारी लेने के बाद फिल्म की टीम ने यहां शूटिंग करने का निर्णय लिया था। गांव वालों ने बताया कि पिछले साल अक्षय कुमार, राधिका आप्टे और सोनम कपूर ने यहां करीब दो दिनों तक शूटिंग की थी। प्रकाश पिता गबू सिंह के घर को शूटिंग के लिए लिया गया था।

रोजाना दिहाड़ी करने वाले प्रकाश बताते हैं कि इस दौरान तीन दिनों तक शूटिंग वालों ने घर का सामान बाहर निकालकर रखवा दिया था। तब तक वे अपने परिवार के साथ पास ही एक जगह सोए, जहां जानवर बांधे जाते थे। भले ही अक्षय कुमार सरीखे फिल्मी सितारे कुछ वक्त प्रकाश के इसी घर में रहे हों, लेकिन प्रकाश और उनका परिवार कुछेक बार ही इन कलाकारों को देख सका।

उम्मीद थी- कुछ मिलेगा, पर नहीं

परिवार को उम्मीद थी कि फिल्म की टीम उनका घर इस्तेमाल करने की ऐवज में कुछ पैसे देगी, लेकिन ऐसा भी नहीं हुआ। प्रकाश ने बताया कि उन्हें अब तक कोई पैसा नहीं मिला। हालांकि प्रकाश इससे निराश नहीं हैं। उन्हें खुशी है कि वे इन कलाकारों को देख सके और उनका घर बड़ी फिल्म का हिस्सा भी बना।

हालांकि उनके पास इस बात से जुड़ी कोई भी निशानी नहीं है, क्योंकि किसी ने भी उन्हें फिल्मी कलाकारों से फोटो खिंचवाना या मिलना तो दूर उनके नजदीक भी जाने नहीं दिया। पैडमैन की शूटिंग महेश्वर के अलावा मेहतवाड़ा का सरकारी स्कूल, जीनिंग फैक्टरी और धामनोद (धार) के टॉकीज में भी की गई थी।

फिर होगी कोई शूटिंग!

फिल्मी दुनिया के लोगों के लिए भी कालाकुंड गांव और यहां के खूबसूरत नजारे खासे पसंद आए हैं। दिसंबर 2017 में प्रकाश और उनके परिवार के पास कुछ लोग फिर अगली फिल्म की शूटिंग के बारे में बताने के लिए आए थे। 

Posted By: Sanjay Pokhriyal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस