जबलपुर, जेएनएन। मध्य प्रदेश के जबलपुर से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे खुनकर आप चौक जाएंगे। यहां कुवारों से शादी के नाम पर लोगों से जालशाजी करने वाले गिरोह का भांडाफोड़ हुआ है। छतरपुर के रहने वाले एक युवक से शादी कराने के एवज में 40 हजार रूपए लेकर ठग चंपत हो गए। कुंवारों से शादी के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के दो लोगों को पुलिस ने दबोच लिया है। फिलहाल बाकि आरोपियों की तलाश जारी है।

दरअसल, छतरपुर के रहने वाले मनोज कुमार (18) की जबलपुर निवासी गणेश की से मुलाकात हुई थी। बातचीत के दौरान मनोज के परिवार वालों ने गणशे से कोई अच्छा रिश्ता बताने के लिए कहा। इसके करीब 15 दिन बाद गणेश ने मनोज को रेखा यादव और देवेन्द्र सोंधिया के बारे में बताया जो शादी करवाते हैं। गणेश की बातों में आकर मनोज ने रेखा और देवेन्द्र से शादी के लिए संपर्क किया।

मनोज उनके बुलावे पर अपने रिश्तेदार के साथ 12 जून को जबलपुर आ गया। जबलपुर में रेखा और देवेन्द्र से उसकी मुलाकात हुई। लड़की दिखाने के लिए दोनों मनोज और उसके रिशेतेदार को मेडिकल ले गए। वहां उन्होंने मनोज को लड़की दिखाई। वहां, मनोज को लड़की पसंद आ गई और उसने शादी के लिए हां कर दी। शादी पक्की करने की बात कहते हुए दोनों ने मनोज से लड़की के हाथ पर 1500 रुपए रखवा दिए। रेखा और देवेन्द्र ने कहा कि दोनों की कोर्ट मैरिज कराई जाएगी। उसके बाद मनोज अपने रिश्तेदार के साथ छतरपुर चला गया।

रेखा ने दो दिन बाद मनोज को फिर 40 हजार रुपए लेकर शादी के लिए जबलपुर बुलाया। मनोज अपने रिश्तेदार के साथ पैसे लेकर जबलपुर पहुंचा। वहां उससे दोनों ने लड़की को साड़ी और चप्पल दिलवाने के लिए 1 हजार रुपये मांगे। उन पैसों से रेखा और देवेन्द्र साड़ी और चप्पल खरीद कर लाए ताकि मनोज को कोई शक न हो। इसके बाद दोनों ने मनोज से 40 हजार रूपए और उसका मोबाइल फोन लेकर लड़की लाने के बहाने वहा से फरार हो गए। कई घंटे बाद जब दोनों नहीं आए तक मनोज को एहसास हुआ कि उसके साथ धोखाधड़ी हुई है।

ठगी का शिकार हुआ मनोज अपने रिश्तेदार को लेकर पुलिस थाने पहुंचा। थाना प्रभारी ने मामले को गंभीरता से लेकर जांच शुरू की। बस स्टैण्ड के सीसीटीवी फुटेज से रेखा यादव (28) और देवेन्द्र सोंधिया (32) की पहचान की गई। बुधवार को पुलिस की एक टीम ने रेखा और देवेन्द्र को दबोच लिया गया। पुलिस गणेश की तलाश कर रही है, जिसने मनोज को इस गिरोह तक पहुंचाया था। पुलिस की एक टीम उस लड़की की भी तलाश कर रही है, जिससे शादी कराने का झांसा दिया गया था।

थाना प्रभारी ने बताया कि रेखा और देवेन्द्र से पूछताछ के लिए न्यायालय ने दो दिन की रिमांड पर भेज दिया है। आशंका है कि दोनों किसी बड़े गिरोह के सक्रिय सदस्य हैं जो कुंवारों को शादी का झांसा देकर उनके साथ ठगी करता है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप