भोपाल, एएनआइ। मध्‍य प्रदेश के भींड में मात्र 6000 रुपये प्रतिमाह कमाने वाले रवि गुप्‍ता नाम के शख्‍स को इनकम टैक्‍स विभाग ने 3.49 करोड़ रुपये टैक्‍स भरने का नोटिस भेजा है। यह पूरा मामला इतना सुनकर आप अपने दांतों तले उंगली दबा लेंगे, क्‍योंकि बैंक स्‍टेटमेंट के हिसाब से रवि के अकाउंट में साल 2011 में 132 करोड़ रुपये थे। हालांकि, रवि हैरान करने वाली बात यह बताते हैं कि उन्‍होंने कभी किसी बैंक में अकाउंट ही नहीं खुलवाया है।

रवि को जब इनकम टैक्‍स की ओर से 132 करोड़ रुपये का नोटिस मिला, तो उन्‍हें यकीन ही नहीं हुआ। उन्‍हें लगा कि आयकर विभाग को कोई गलतफहमी हुई है। लेकिन जब रवि को पूरे फर्जीवाड़े के बारे में पता चला, तो वह भी दंग रहे गया। रवि ने बताया, 'साल 2011 में मेरा पैन कोर्ड और फोटो को इस्‍तेमाल कर एक बैंक अकाउंट खोला गया था। अकाउंट खुलने के बाद इसमें 132 करोड़ रुपये पता नहीं कहां से जमा हो गए। हालांकि, मैंने आज तक कोई बैंक अकाउंट नहीं खुलवाया है। मैं सिर्फ 6000 रुपये प्रतिमाह कमाता हूं। अब मुझे साढ़े तीन करोड़ रुपये का नोटिस मिला है। मुझे समझ में नहीं आ रहा कि क्‍या करूं।'

बता दें कि 2016 में हुई नोटबंदी के दौरान ऐसे कई मामले सुनने को आए थे। तब कई लोगों ने दावा किया था कि उनके अकाउंट में अचानक करोड़ रुपये जमा हो गए और फिर कुछ दिनों बाद निकाल भी लिए गए। हालांकि, रवि के साथ हुई घटना 2011 की है। अगर रवि ने उस समय इस बात की सूचना पुलिस या आयकर विभाग को दी होती, तो ये मामला तुरंत खुल जाता और आरोपी सामने आ जाते।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस