नई दिल्ली, जेएनएन। 17 वीं लोकसभा इस चुनाव में जहां एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रचंड बहुमत से जीत के लिए जानी जाएगी वहीं कई प्रत्याशियों की सांसें अंतिम ईवीएम खुलने तक जोर-जोर से धड़कती रहीं। ये चुनाव कई मायनों में इस वजह से भी खास रहा क्योंकि यहां हार जीत का अंतर बहुत ही कम रहा। देश के अलग-अलग प्रदेशों में हुए लोकसभा चुनाव के ये रिजल्ट चौंकाने वाले भी रहे। चुनाव आयोग की ओर से कुछ सीटों पर इस तरह के रिजल्ट की घोषणा भी की गई। उसमें ये हार जीत का अंतर सबसे कम रहा। 

 

उत्तर प्रदेश के लोकसभा चुनाव के नतीजों पर ग़ौर करें तो यहां 9 सीटें ऐसी रही हैं जहां हार जीत का अंतर 20 हज़ार वोटों से भी कम रहा। यहां पर क़रीब चार सीटें ऐसी रही हैं जहां 10 हज़ार से भी कम वोटों से हार-जीत हुई। सबसे कम अंतर मछली शहर लोकसभा का रहा, इस सीट पर बीजेपी के भोलानाथ ने बसपा के त्रिभुवन राम को मात्र 181 वोटों से हरा दिया। ये अपने आप में एक रिकार्ड रहा। मतगणना के दिन यहां दोनों प्रत्याशियों की सांसे अंतिम समय तक अटकी रही। 

इस चुनाव में कुछ ऐसी सीटें भी रही हैं जहां से दिग्गज नेताओं की हार जीत का अंतर बहुत कम रहा है जिनमें बीजेपी की नेता मेनका गांधी प्रमुख हैं। सुल्तानपुर से उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी बसपा के चंद्रभद्र सिंह को 14 हजार 526 वोटों से हराया। यहां कांग्रेस के उम्मीदवार संजय सिंह को 41,681 वोट मिले।

 

महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय लोकदल के नेता अजित सिंह और उनके बेटे जयंत चौधरी को भी हार का मुंह देखना पड़ा है।मुजफ्फरनगर सीट पर अजित सिंह को बीजेपी के संजीव कुमार बाल्यान ने 6,526 वोटों से हराया जबकि बागपत से जयंत चौधरी को बीजेपी के सत्यपाल सिंह से 23,502 वोटों से मात दी। मुजफ्फरनगर सीट पर अकेले नोटा पर ही 5,110 वोटरों ने वोट किया जबकि चुनाव में खड़े चार निर्दलीयों को 13,620 वोट मिले। इसी तरह से बागपत विधानसभा में भी नोटा पर 5041 वोट पड़े और दो निर्दलियों को 3,860 वोट मिले। 

कन्नौज में सपा मुखिया अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव को बीजेपी के सुब्रत पाठक ने हराया, यहां दोनों के बीच हार का अंतर 12,353 वोटों का रहा। कांग्रेस के कुलदीप राय शर्मा ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी विशाल जॉली (भाजपा) को केवल 1,407 वोटों से हराकर अंडमान और निकोबार द्वीप समूह लोकसभा सीट जीत ली।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vinay