नई दिल्ली, (एएनआइ)। दिल्ली के कालिंदी कुंज मेट्रो स्टेशन के निकट रोहिंग्या शिविर में आग लग जाने के बाद शरणार्थियों को पास के मैदान में स्थानांतरित कर दिया गया है और उन्हें यहां गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) और स्थानीय लोगों द्वार मदद दी जा रही है। एक रोहिंग्या ने न्यूज एजेंसी को बताया कि इस आग में हमारा सब कुछ जल गया है। यहां स्थानीय लोगों ने हमारी काफी मदद की। हमें कपड़े और खाने के लिए खाना दिया। पुलिस ने भी हमारी सहायता की।

शरणार्थियों को रहने के लिए अस्थायी तम्बू और मच्छरदानी प्रदान की गई, जब तक उनके रहने के लिए शिविर पुनर्निर्मित नहीं होते। एनजीओ और स्थानीय निवासियों ने रोहिंग्या शरणार्थियों को कपड़े, खाद्य पदार्थ और अन्य आवश्यक वस्तुओं को उपलब्ध कराने में मदद की।

दिल्ली के कालिंदी कुंज इलाके में रोहिंग्या मुसलमानों के कैंप में रविवार को अचानक भीषण आग लगने से सबकुछ खाक हो गया। सूचना मिलते ही दमकल की 12 गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और आग पर काबू पाया। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, आग लगने से लगभग 230 रोहिंग्या प्रभावित हुए हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, आग लगने से लगभग 230 रोहिंग्या प्रभावित हुए हैं। जानकारी के मुताबिक यहां करीब 47 परिवार रह रहे थे और सबसे पहले एक टॉइलट से भड़की आग ने तेजी से पूरे कैंप को अपनी चपेट में ले लिया।

Posted By: Arti Yadav