नई दिल्ली, एजेंसी। सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) केस की जांच के आगे बढ़ने के साथ ही इसमें नए-नए खुलासे हो रहे हैं। सीबीआइ और प्रवर्तन निदेशालय (ED) के बाद अब इस केस में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (Narcotics Control Bureau) की भी एंट्री हो गई है। जांच के सातवें दिन आज एजेंसियों का पूरा फोकस रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) के परिवार को सदस्यों पर है। सीबीआई रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती से डीआरडीओ के गेस्ट हाउस में पूछताछ की गई। उधर, ईडी ने रिया के पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती को एक बार फिर समन भेजा है। इसके अलावा सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी, कुक निरज समेत कई और लोगों से भी पूछताछ हुई। वहीं, मामले में ईडी ने बिजनसमैन गौरव आर्या को भी समन भेजा। गौरव आर्या का नाम रिया के कथित ड्रग चैट में आया था।

जानें, सुशांत सिंह राजपूत केस से जुड़े अपडेट्स:

रिया के घर पहुंची मुंबई पुलिस

रिया चक्रवर्ती की तरफ से परिवार को खतरा बताए जाने के बाद मुंबई पुलिस ने एक कॉन्स्टेबल को रिया के घर पर तैनात किया गया। भाई शोविक चक्रवर्ती से सीबीआइ डीआरडीओ के गेस्ट हाउस में पूछताछ की गई। कांस्टेबल ने बताया कि वो रिया चक्रवर्ती के पिता को सांता क्रूज़ पुलिस स्टेशन ले जाने आया है।

मुझे और मेरे परिवार की जान को खतरा: रिया

पिता के साथ बदसलूकी को लेकर रिया चक्रवर्ती ने अपने बिल्डिंग कंपाउंड के अंदर का एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें उन्के पिता को वहां मौजूद मीडियाकर्मियों ने घेरा हुआ है। वीडियो में उन्होंने खुद को और अपने परिवार को जान का खतरा बताया है। रिया ने लिखा कि हम ईडी, सीबीआई और विभिन्न जांच अधिकारियों के साथ पूरा सहयोग कर रहे हैं। मैं मुंबई पुलिस से अनुरोध करती हूं कि कृपया हमें सुरक्षा प्रदान करें ताकि हम इन जांच एजेंसियों के साथ सहयोग कर सकें।

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

This is inside my building compound , The man in this video is my father Indrajit chakraborty ( retd . army officer ) We have been trying to get out of our house to cooperate with ED , CBI and various investigation authorities to cooperate . There is a threat to my life and my family’s life . We have informed the local police station and even gone there , no help provided . We have informed the investigation authorities to help us get to them , no help arrived . How is this family going to live ? We are only asking for assistance , to cooperate with the various agencies that have asked us . I request @mumbaipolice to please provide protection so that we can cooperate with these investigation agencies . #safetyformyfamily In covid times , these basic law and order restrictions need to be provided . Thankyou

A post shared by Rhea Chakraborty (@rhea_chakraborty) on

ड्रग पैडलर्स के नेटवर्क की जांच

सुशांत केस में ड्रग्स की जांच के लिए नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने एक टीम बनाई है और यह टीम जांच के लिए दिल्ली से रवाना हो गई। एनसीबी ने बुधवार को दिल्ली में रिया चक्रवर्ती, भाई शौविक चक्रवर्ती तथा उसके दोस्तों के खिलाफ नार्कोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्सटैंस (एनडीपीएस) अधिनियम की धारा 20, 22, 27 व 29 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। 

ड्रग की वजह से गई जान: विकास सिंह

सुशांत के पिता के आरोप पर वकील विकास सिंह कहा कहना है कि सुशांत को छुपा कर ड्रग दिया जा रहा था, उनकी चाय, कॉफी में डाल कर। अगर वो (रिया) सुशांत की मानसिक स्थिति को नियंत्रित करने के लिए उनको ड्रग दे रही थीं तो ये गंभीर अपराध है। इसी जहर की वजह से आज उनकी जान गई है।

रिया मेरे बेटे की हत्यारी: केके सिंह

सुशांत के पिता केके सिंह ने रिया चक्रवर्ती पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि रिया ने उनके बेटे की जहर देकर हत्‍या की है। वह काफी समय से उनके बेटे को जहर दे रही थी। जांच एजेंसी को चाहिए कि वो रिया और उसके सहयोगियों तो तुंरत गिरफ्तार करे।

सिद्धार्थ पिठानी का बड़ा खुलासा

सीबीआई की पूछताछ में सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी ने बताया कि 8 जून को रिया और सुशांत के बीच झगड़ा हुआ था। इसके बाद रिया ने घर छोड़ने से पहले 8 हार्ड ड्राइव को एक आईटी प्रोफेशनल से नष्ट करवाया था। इस पर सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह ने कहा, अगर ऐसा है तो सुशांत को मारने के लिए साजिश की गई थी।

मॉर्चरी में रिया के प्रवेश पर अस्पताल को नोटिस

सुशांत मामले में महाराष्ट्र राज्य मानवाधिकार आयोग (एमएसएचआरसी) भी सक्रिय हो गया है। उसने मुंबई पुलिस व कूपर अस्पताल को नोटिस जारी करते हुए पूछा है कि किस नियम के तहत रिया चक्रवर्ती को अस्पताल की मॉर्चरी में प्रवेश की इजाजत दी गई।

विधायक ने उद्धव को पत्र लिखा

उधर, मुंबई के घाटकोपर पश्चिम से भाजपा विधायक राम कदम ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर महाराष्ट्र में ड्रग्स के अवैध कारोबार पर आगामी विधानसभा सत्र में चर्चा करवाने की मांग की है। राम कदम का आरोप है कि इस मामले में महाराष्ट्र के एक ब़़डे नेता को बचाने का प्रयास किया जा रहा है।

Edited By: Manish Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट