नई दिल्ली। काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (CISCE) के 10वीं ( ICSE) और 12वीं (ISC) के नतीजे घोषित कर दिये गए हैं। आइएससी (12वीं कक्षा) की परीक्षा में कोलकाता के अर्क्या चटर्जी ने बाजी मारी है। उन्होंने 400 में से 399 अंक हासिल कर पूरे देश में पहला स्थान प्राप्त किया है। उन्हें 99.75 फीसद अंक हासिल हुए हैं। वे विवेकानंद मिशनरी स्कूल, जोका, कोलकाता के छात्र हैं। वहीं आइसीएसई (10वीं कक्षा) की परीक्षा में कोलकाता के ही सौगत चौधरी ने पहला स्थान प्राप्त किया है। चौधरी को 99.20 अंक हासिल हुए हैं। इसके अलावा दो और विद्यार्थियों ने भी 496 अंक पाकर पहला स्थान पाया है।

आईएससी में 99.50 फीसद (398) अंक हासिल कर चार छात्रों ने दूसरा स्थान प्राप्त किया है। दूसरा स्थान हासिल करने वालों में तीन लड़कियां हैं। इनमें एक लड़की भी कोलकाता की है, जबकि कोलकाता के ही रौनक अग्रवाल को भी दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है। वहीं आइसीएसई में सौगत के अलावा मुंबई की अनन्या हर्षद पटवर्धन और नवी मुंबई के तेजन तपन साहू को भी पहला स्थान मिला है।

दिल्ली-एनसीआर के टॉपर

12 वीं के नतीजों में दिल्ली-एनसीआर में गाजियाबाद की रूपल गोयल ने 99 फीसद अंक हासिल कर पहला स्थान प्राप्त किया है। वह होली चाइल्ड स्कूल, गाजियबाद की छात्रा हैं। वहीं श्रीराम स्कूल, गुड़गांव के छात्र आदित्य मारु और चौतन्य गुप्ता को दूसरा स्थान हासिल हुआ है। दोनों ने 98.25 (393) फीसद अंक हासिल किये हैं। तीसरा स्थान श्रीराम स्कूल, गुड़गांव के प्रनन्य श्रीवास्तव और द फ्रैंक एंथनी पब्लिक स्कूल,नई दिल्ली के दिवजोत कौर को मिला है। दोनों ने 98 फीसद अंक हासिल किये हैं।

12वीं कक्षा के लिए पास छात्रों का प्रतिशत 96.28 है जो पिछले साल की अपेक्षा एक फीसद ज्यादा है। वहीं आइसीएसई (10 वीं कक्षा) की परीक्षा में 98.49 फीसद छात्र पास हुए हैं, जो पिछले साल की अपेक्षा 0.21 फीसद ज्यादा है। इस बार भी दोनों ही परीक्षाओं में लड़कियों का ही दबादबा रहा है। जहां आइसीएसई की परीक्षा में 98.95 लड़कियां पास हुई हैं, वहीं लड़कों का पास प्रतिशत 98.12 फीसद रहा। इसके अलावा आईएससी की परीक्षा में लड़कियों का पास प्रतिशत 97.49, जबकि लड़कों का पास प्रतिशत 95.27 रहा।

आइसीएसई की परीक्षा में कुल 1,58,833 छात्र शामिल हुए थे। इनमें से 88,209 लड़के व 70,624 लड़कियां थी। वहीं आईएससी की परीक्षा में कुल 71,141 छात्र शामिल हुए थे। इनमें से लड़कों की संख्या 38,659 व लड़कियों की संख्या 32,482 थी।

काउंसिल की ऑफिसियल वेबसाइट www.cisce.org पर लॉग इन कर छात्र अपना रिजल्ट देख सकते हैं।

छात्र आइसीएसई 2015 के नतीजे जागरण जोश की वेबसाइट पर भी देख सकते हैं। इसके लिए छात्र icse.jagranjosh.com पर लॉग इन कर अपना रिजल्ट देख सकते हैं।

10वीं के रिजल्ट के लिए क्लिक करें

12वीं के रिजल्ट के लिए क्लिक करें

आइसीएसई (इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट) 12वीं की परीक्षा साल 2015 में 9 फरवरी से शुरू होकर 1 अप्रैल तक चली थी। लगभग 70 हजार विद्यार्थियों ने इस साल 12वीं बोर्ड की परीक्षा दी है।

आईसीएसई की 10वीं की परीक्षा साल 2015 में 26 फरवरी से शुरू होकर 30 मार्च तक चली। लगभग डेढ़ लाख विद्यार्थियों ने इस साल आइसीएसई के माध्यम से 10वीं बोर्ड की परीक्षा दी है।

इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (आईसीएसई) परीक्षा को काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) नामक संस्था आयोजित करती है। आईसीएसई की 10वीं की परीक्षा का आयोजन अमूमन हर साल फरवरी-मार्च के महीने में होता है। आईसीएसई में पाठ्यक्रम सिर्फ अंग्रेजी माध्यम में होता है। आईसीएसई बोर्ड के रिजल्ट पूरे देशभर में और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी मान्य हैं।

ये भी पढ़ेंः UP Board Result 2015 - 10वीं और 12वीं के नतीजे घोषित, देखें यहां

ये भी पढ़ेंः पंजाब बोर्ड की 12वीं के नतीजे घोषित, दो छात्राओं को 100% अंक

Posted By: anand raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस