कोझिकोड, एएनआई/प्रेट्र। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दीनदयाल शताब्दी के जन्मदिन के मौके पर भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के आखिरी दिन पार्टी कैडर को संबोधित करते हुए रविवार को कई बातें कही। आईये जानते हैं पीएम मोदी के भाषण की मुख्य बातें।

1- मुसलमान सिर्फ वोट बैंक नहीं
प्रधानमंत्री मोदी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि दीन दयाल उपाध्याय जी ने कहा था कि मुसलमानों को सिर्फ वोट बैंक की तरफ नहीं इस्तेमाल करना चाहिए बल्कि उन्हें बराबर का दर्जा दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि मुसलमानों को ना ही रिवॉर्ड दें और ना ही उनका अपमान करें बल्कि उन्हें सशक्त बनाए।

2- चुनाव प्रक्रिया में सुधार की जरूरत
पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा कि देश की चुनावी प्रक्रिया में बदलाव को लेकर चर्चा किए जाने की जरूरत है।

3- पेरिस समझौते पर लिया जाएगा फैसला
प्रधानमंत्री ने कहा कि आजकल लोग जलवायु परिवर्तन की बात करते हैं। लेकिन, दीनदयाल उपाध्याय लगातार कहा करते थे कि हमें अपने संसाधनों का आदर करना चाहिए। 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी जी के जन्मदिन के मौके पर भारत पेरिस समझौते पर अपना फैसला लेगा।

पढ़ें- पाक को पीएम मोदी का संदेश, हिंदुस्तान न कभी झुका है और न ही झुकेगा

4- गरीबों की सेवा को लेकर सरकार प्रतिबद्ध
प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी पार्टी समाज के कमजोर तबकों के लिए स्थापित की गई है और सभी कदम इन वंचित और कमजोर तबकों को ध्यान में रखकर लिए जा रहे हैं।

5- बराबरी का दर्जा
दीन दयाल उपाध्याय अक्सर यह बात कहा करते थे कि सभी लोगों को बराबर का दर्जा दिया जाना चाहिए। शीर्ष पर बैठे लोगों को समाज के कमजोर तबकों की मदद करनी चाहिए।

6- आदर्श के साथ कोई समझौता नहीं
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का असली चरित्र लोगों के कल्याण के सिद्धांत पर आधारित है। हमने कभी भी अपने आदर्श के साथ समझौता नहीं किया है। अन्य पार्टियों के अंदर भी अच्छे लोग हो सकते हैं लेकिन हमारे पास उनसे ज्यादा अच्छे नेता हैं। आज हम जो कुछ भी हैं उसे हमारे सीनियर नेता ने बनाया है।

पढ़ें- देश की चुनाव प्रक्रिया में सुधार को लेकर व्यापक चर्चा की जरूरत: PM मोदी

Posted By: Rajesh Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस