कन्नूर, एएनआई। केरल पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि कन्नूर जिले के 6 और युवकों ने आईएस का दामन थामा है। केरल पुलिस के मुताबिक आईएस के गढ़ माने जाने वाले सीरिया जाकर इन युवकों ने आतंकी संगठन को ज्वॉइन किया है।

हाल ही में 25 अक्टूबर को कन्नूर में ही आईएस से संबंध होने के आरोप में 5 युवकों को हिरासत में लिया था। पीएफआई का नाम इससे पहले भी विवादों में रहा है। कन्नूर पुलिस ने इन युवकों की गिरफ्तारियां की थीं जो देश के अलग-अलग इलाकों में धमाके करने की तैयारी में थे। 

एनआईए की विशेष अदालत ने 20 जनवरी 2016 को पॉप्युलर फ्रंट ऑफ इंडिया के 21 कार्यकर्ताओं को आपराधिक साजिश रचने, शस्त्र और विस्फोटक पदार्थ रखने, सांप्रदायिक असंतोष को बढ़ावा देने और आतंकी शिविर आयोजित कर राष्ट्रीय अखंडता को हानि पहुंचाने का दोषी करार दिया था।

दक्षिण भारत में बड़े हमले की तैयारी

ये लोग दक्षिण भारत के अलग अलग स्थानों पर बड़े हमले करने की तैयारी में थे। पुलिस का कहना है कि इन लोगों ने एक योजना बनाई थी जिस अंजाम देने के लिए मौके की फिराक में थे। ये सभी विस्फोटक इकट्ठा कर रहे थे।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार जिन तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है उनके नाम रशीद, रज्जाक, मिथिलाज हैं। ये लोग टर्की में थे और सीरिया जाने की कोशिश में थे, लेकिन जैसे ही टर्की पुलिस को इनके बारे में सूचना मिली उन्हें गिरफ्तार करके भारत डिपोर्ट कर दिया गया।

गुजरात से भी दो संदिग्ध गिरफ्तार

गुजरात एटीएस ने आईएस के दो संदिग्ध आतंकियों को अरेस्ट किया है। ये गुजरात चुनाव के दौरान अहमदाबाद के खडिया इलाके में एक यहूदी धर्मस्थल पर ब्लास्ट करने की तैयारी में थे। बताया जा रहा है कि यह हमला 7 जुलाई को लंदन में ब्लास्ट करवाने में अहम किरदार निभाने वाले अब्दुल फैजल के इशारे पर किया जाना था।

ISIS की तरफ से जंग लड़ने गया युवक मारा गया

उधर, कल्याण से भागकर आईएसआईएस की तरफ से जंग लड़ने इराक गए चार युवकों में से एक फहाद शेख मारा गया है। उसके पिता डॉक्टर तनवीर शेख के मुताबिक, इराक से एक अज्ञात शख्स ने फोन पर उन्हें यह इन्फॉर्मेशन दी।

हालांकि, फोन करने वाले ने यह नहीं बताया कि उसकी मौत कैसे हुई। तनवीर ने कल्याण पुलिस और एटीएस टीम को इसकी जानकारी दे दी है। बता दें की फहाद के साथ इराक गए उसके एक दोस्त आरिब मजीद को डिपोर्ट कर मुंबई लाया गया था।

ISIS के लिए काम करने वाली महिला फिलीपींस से गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले ही आईएसआईएस के लिए काम करने वाली महिला करेन आयशा हामिदन को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NBI) ने फिलीपींस से गिरफ्तार किया है। आयशा हामिदन फिलीपींस आतंकवादी नेता मोहम्मद जाफार मैकिड की विधवा है। हामिदन का काम संगठन में नए आतंकियों की भर्ती करना था।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने फिलीपींस सरकार से हामिदन के बारे में जानकारी और सुबूत जुटाने के लिए मदद मांगी थी। जिसके बाद से फिलीपींस की राष्ट्रीय जांच एजेंसी आयशा हामिदन को लेकर काफी अलर्ट हो गई थी।

एनआईए को इस बात पर पहली बार शक तब हुआ जब भारत में गिरफ्तार किए गए दो आईएस आतंकियों मोहम्मद सिराजुद्दीन और मोहम्मद नासिर का लिंक हामिदन के साथ जोड़ा गया था।

यह भी पढ़ें: हैदराबाद: 90 लाख के रद पुराने नोटों के साथ एक गिरफ्तार

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Pratap Singh