तिरुवनंतपुरम, प्रेट्र। केरल की माकपा के नेतृत्व वाली एलडीएफ सरकार ने केंद्र सरकार से मांग की है कि वह ऐसा कानून लाए जिससे सबरीमाला मंदिर में आने वाले भगवान अयप्पा के भक्तों के विश्वास की रक्षा हो सके।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने सभी आयु वर्ग की महिलाओं के लिए सबरीमाला मंदिर के दरवाजे खोलने का आदेश दिया था।

केरल के देवासोम मंत्री कडकंपल्ली सुरेंद्रन ने संवाददाताओं से कहा कि सबरीमाला मुद्दा केंद्र सरकार के समक्ष बतौर प्राइवेट बिल आएगा। हर किसी को पता है कि प्राइवेट बिलों का हश्र क्या होता है। दरअसल, भगवान अयप्पा के मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर रोक लगाने संबंधी एक प्राइवेट बिल लोकसभा में इसी हफ्ते पेश होने वाला है।

केरल के मंत्री सुरेंद्रन ने कहा कि ऐसे हालात न बनें यह सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश भाजपा नेतृत्व को केंद्र पर दबाव डालना चाहिए और कानून की रक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि लोकसभा में भाजपा का जबरदस्त बहुमत है और इसलिए उसे इस मामले में कोई कानून लाना चाहिए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप