कोच्‍ची, पीटीआइ। सीमाशुल्क विभाग ने केरल सोना तस्करी मामले में मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश, निलंबित आईएएस अधिकारी एम शिवशंकर और तिरुवनंतपुरम में संयुक्त अरब अमीरात के वाणिज्य दूतावास के दो पूर्व राजनयिकों समेत कुल 53 लोगों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आधिकारिक सूत्रों ने रविवार को बताया कि सीमाशुल्क आयुक्त (रोकथाम) सुमित कुमार ने 16 जून को यह नोटिस जारी किया। इस नोटिस में 53 लोगों से पूछा गया है कि सोना तस्करी मामले में उनके खिलाफ सीमाशुल्क कानून के तहत कार्रवाई क्यों नहीं की जाए। 

सूत्रों ने बताया कि यह मामला 167 किलोग्राम सोने की तस्करी में इन 53 लोगों की संलिप्तता से जुड़ा है। इस मामले में करीब 15 करोड़ रुपए के उस 30 किलोग्राम सोने की तस्करी भी शामिल है जिसे पांच जुलाई, 2020 को तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डे पर एक राजनयिक बैग से जब्त किया गया था। सूत्रों ने बताया कि 53 आरोपियों में शामिल संयुक्त अरब अमीरात के वाणिज्य दूतावास के पूर्व महावाणिज्य दूत जमाल अल जाबी और अताशे राशिद खामिस अली को केंद्रीय वित्त मंत्रालय की ओर से नोटिस जारी किया गया है।

केंद्रीय वित्त मंत्रालय अब इस मामले को विदेश मंत्रालय के पास भेजेगा। यह विदेशी राजनयिकों से जुड़ा मामला है। ये राजनयिक देश से पहले ही जा चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक स्वप्ना सुरेश के अलावा छह अन्य आरोपियों को भी नोटिस जारी किया गया है जो विदेशी मुद्रा संरक्षण एवं तस्करी रोकथाम अधिनियम के तहत हिरासत में हैं। अन्य मुख्य आरोपियों सरीथ पीएस, संदीप नैयर, केटी रमीश को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। कारण बताओ नोटिस जांच, जब्त कि‍ए गए दस्तावेजों एवं अन्य संग्रहित सबूतों के आधार पर तैयार किया गया है।