तिरुवनंतपुरम, पीटीआइ। केरल तट पर आईएस आतंकियों को लेकर हाईअलर्ट जारी किया गया है। खुफिया सूचना मिली है कि करीब 15 आईएस आतंकी एक नाव पर सवार होकर श्रीलंका से लक्षद्वीप के लिए रवाना हुए हैं। इसे देखते हुए केरल की तटीय पुलिस और उनके जिला पुलिस प्रमुखों को अलर्ट जारी कर दिया गया है। देश में आतंकी घुसपैठ के खतरों को देखते हुए भारतीय तटरक्षक बल ने भी अपने जहाज और समुद्री निगरानी विमान लक्ष्‍यद्वीप समेत आप पास के क्षेत्र में तैनात कर दिए हैं। 

इससे पहले 21 अप्रैल को हुए ईस्टर धमाकों के बाद दक्षिण तटों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। खुफिया एजेंसियों को आशंका है कि केरल में अभी कुछ लोग आईएस के लिए काम कर रहे हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हमें ऐसे अलर्ट मिलते रहते हैं लेकिन इस बार आतंकियों की संख्या भी बताई गई है। इस इनपुट को लेकर हम  सतर्क हैं। तटों की चौकसी बढ़ा दी गई है।

वहीं तटीय पुलिस ने बताया कि श्रीलंका की ओर से संदिग्ध गतिविधियों के इनपुट को देखते हुए पर 23 मई से सुरक्षा  कड़ी कर दी गई थी। बता दें कि श्रीलंका में 21 अप्रैल को ईस्टर पर हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में 258 लोगों की मौत हो गई थी और 500 से अधिक लोग  घायल हुए थे। हमले की जिम्मेदारी आईएस ने ली थी। वहीं, श्रीलंका ने कहा था कि इन हमलों में स्‍थानीय चरमपंथी संगठन का हाथ है।  

सनद रहे कि बीते दिनों राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने भी केरल में इस्लामिक स्टेट (आइएस) से जुड़े कुछ संदिग्धों को गिरफ्तार किया था। श्रीलंका में आतंकी  हमले के मास्टरमाइंड जहरान हाशिम से इन आतंकियों के संपर्क के सबूत मिले थे जिसकी छानबीन जारी है। इसके बाद आतंकी संगठन आइएस से जुड़े रियाज  अबूबकर से मिली जानकारी के एक दिन बाद एनआइए ने कतर से लौटे फैजल को कोचीन एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया था। कोल्लम का रहने वाला फैजल उन  तीन संदिग्‍धों की सूची में से एक है, जिन्हें एनआइए ने आरोपी सूची में रखा है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप