कोच्चि, एएनआइ। केरल के कोच्चि में आज डिजिटल हब का उद्घाटन होगा। खुद मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन केरल स्टार्टअप मिशन द्वारा तैयार किए गए हब का उद्घाटन करेंगे। जिसका मकसद टेक्नोलाजी को बढ़ावा देना है। इसके अलावा एक जीवंत पारिस्थितिकी तंत्र की मेजबानी करना है, जिसमें इनक्यूबेटर, एक्सेलेरेटर और सेंटर आफ एक्सीलेंस शामिल हैं। उभरती प्रौद्योगिकी में केरल प्रौद्योगिकी नवाचार क्षेत्र (KTIZ) में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से लान्च किया जाएगा।

हब डिजाइनिंग और प्रोटोटाइप (prototyping) के लिए एक गंतव्य होगा और अंतरराष्ट्रीय संगठनों सहित संस्थानों के लिए विश्व स्तरीय उत्पादों को ढालने के लिए खुला होगा। उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता कानून मंत्री करेंगे जबकि संसद सदस्य हिबी ईडन अभिनंदन भाषण देंगे।

अन्य वक्ताओं में मुख्य सचिव डा. वीपी जाय और इंफोसिस के सह-संस्थापक क्रिस गोपालकृष्णन, कलामासेरी नगर अध्यक्ष सीमा कन्नन और उपाध्यक्ष सलमा अबूबकर होंगे। इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी के प्रमुख सचिव, विश्वनाथ सिन्हा स्वागत भाषण देंगे, जबकि केएसयूएम के सीईओ जान एम थामस धन्यवाद देंगे। केरल स्टार्टअप मिशन (KSUM)राज्य में उद्यमिता विकास और ऊष्मायन गतिविधियों के लिए केरल सरकार की नोडल एजेंसी इस सुविधा का प्रबंधन और संचालन करेगी।

वहीं लव और नार्कोटिक्स जिहाद की चर्चाओं के बीच भारतीय मा‌र्क्सवादी पार्टी (माकपा) ने पढ़ी-लिखी युवतियों को भी आतंकवाद की राह पर ले जाने की कोशिशों पर चिंता जताई और उसके प्रति आगाह किया। केरल में सत्तारूढ़ माकपा ने यहां व्यावसायिक कालेजों में पढ़ रहीं युवतियों को लुभाकर सांप्रदायिकता व आतंकवाद की राह पर ले जाने के एक वर्ग की कोशिशों के प्रति सावधान किया है।

केरल में पार्टी के आगामी सम्मेलनों को लेकर सत्तारूढ़ दल द्वारा तैयार एक आंतरिक नोट में इस तरह की बातें कही गईं। पार्टी ने कहा कि चरमपंथी ताकतें मुख्यधारा के मुस्लिम संगठनों में घुसपैठ कर रही हैं और केरल में इस मुद्दे को हवा देने की कोशिश कर रही हैं। माकपा ने यह भी कहा कि संघ परिवार से जुड़ी ताकतों की गतिविधियों ने अल्पसंख्यक समूहों में असुरक्षा की भावना पैदा की है।

 

Edited By: Pooja Singh