नई दिल्ली। दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख बरखा सिंह और केजरीवाल सरकार के बीच ठन गई है। कुमार विश्वास के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने के बाद खबर है कि दिल्ली सरकार बरखा सिंह की आयोग से छुट्टी कर सकती है। उनकी जगह आयोग में किसी और की नियुक्ति की जा सकती है। केजरीवाल सरकार ने बरखा सिंह को नोटिस भेजा है जिसमें उनपर अनियमित गतिविधियों का आरोप लगाया गया है।

बरखा सिंह के मुताबिक उन्हें केजरीवाल सरकार निशाना बना रही है क्योंकि उन्होंने आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास पर दिल्ली के सफदरजंग पुलिस स्टेशन में जान से मारने की धमकी देने के आरोप में मामला दर्ज कराया है। उनके मुताबिक कुमार विश्वास के खिलाफ चुप्पी साधने के लिए केजरीवाल सरकार उनपर इस नोटिस के जरिए दबाव बनाना चाहती है। वहीं आम आदमी पार्टी के नेताओं का आरोप है कि बरखा सिंह कांग्रेस के इशारों पर काम कर रही हैं।

उधर, आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास को दिल्ली हाईकोर्ट से झटका लगा है। कोर्ट ने महिला आयोग द्वारा कुमार विश्वास को भेजे गए समन पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है। आप नेता कुमार विश्वास को दिल्ली महिला आयोग ने एक महिला की शिकायत के बाद समन भेजा था।

समन के खिलाफ कुमार विश्वास कोर्ट गए थे लेकिन कोर्ट ने आयोग के समन पर रोक लगाने से इनकार करते हुए कहा कि 'महिला आयोग से शिकायत करने वाली महिला कुमार विश्वास को जानती है। उसका कहना था कि उसके और कुमार के रिश्ते को लेकर अफवाह फैल रही है। कुमार विश्वास को स्थिति साफ करनी चाहिए।

क्या है विवाद ?
दरअसल कुमार पर आरोप है कि लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होंने अमेठी में अपनी ही पार्टी की कार्यकर्ता के साथ अवैध संबंध बनाए थे। मामले पर सफाई देने के लिए महिला आयोग ने कुमार विश्वास को पेश होने के लिए कहा था। लेकिन कुमार महिला आयोग की बातों का नजरंदाज करते रहे।

इसके बाद महिला आयोग ने इस मामले को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखकर अवगत कराया। और मामले में दखल देने की अपील भी की।

बता दें कि ‘आप’ की यह महिला कार्यकर्ता पिछले लोकसभा चुनाव में कुमार विश्वास का चुनाव प्रचार करने के लिए अमेठी गई थी। उसका आरोप है कि कुमार की पत्नी उसके खिलाफ दुष्प्रचार कर रही हैं कि उन्होंने वहां विश्वास के साथ उसे आपत्तिजनक हालत में देखा था।

इस विवाद के सामने आने पर उसके पति ने उसे घर से निकाल दिया है और मांग की है कि जब तक कुमार इस मामले में सामने नहीं आएंगे तब तक वो अपनी पत्नी को घर में नहीं बुलाएगा।

महिला ने इस मामले की पुलिस और महिला आयोग में शिकायत करते हुए कुमार विश्वास से सार्वजनिक तौर पर सफाई देने की मांग की है, लेकिन कुमार इससे बच रहे हैं।

यह भी पढ़ें -
जब तक विश्वास नहीं कहेंगे, पत्नी स्वीकार नहींः पीड़िता का पति

विश्वास ने पत्रकारों से पूछा,आपके घर में बहन-बेटी नहीं हैं क्या?

Posted By: Sumit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस