मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

पुणे, निरंजन मेढेकर/मिड डे। आदर्श घोटाले के आरोपी और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चह्वाण के साथ मंच साझा कर आलोचनाओं का शिकार बने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पुणे रैली में आरोपी नेताओं से दूरी बना रहे हैं। यही वजह है कि राष्ट्रमंडल खेल घोटाले के आरोपी सुरेश कलमाड़ी को 15 अप्रैल को होने वाली राहुल की रैली से दूर रखा गया है।

कांग्रेस के स्थानीय पार्षद मोहन जोशी ने कलमाड़ी को राहुल की रैली से दूर रखने की पुष्टि की। जोशी ने बताया कि कलमाड़ी को आमंत्रित नहीं किया गया है, लिहाजा वह रैली में राहुल के साथ मंच साझा नहीं करेंगे। उन्होंने रैली में 50 हजार से ज्यादा लोगों के जुटाने की बात कही। गत शनिवार को यहां हुई नरेंद्र मोदी की रैली में बड़ी संख्या में भीड़ उमड़ी थी। राहुल यहां पुणे सिटी से कांग्रेस प्रत्याशी विश्वजीत कदम के लिए चुनाव प्रचार करने आ रहे हैं।

कलमाड़ी के नजदीकी विधायक रमेश बगवे ने बताया कि यदि उनके नेता राहुल के साथ मंच पर नजर आते तो मीडिया उन्हें बेवजह निशाना बनाती। इस वजह से उन्होंने खुद को रैली से दूर रखा। लोकसभा के लिए टिकट न मिलने से नाराज कलमाड़ी ने पहले निर्दलीय चुनाव लड़ने की धमकी दी थी। हालांकि, बाद में उन्होंने कदम का बिना शर्त समर्थन करने पर राजी हुए।

पढ़ें : राहुल बोले, टॉफी सरीखा है मोदी का विकास मॉडल

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप