नागपुर, एएनआइ। नोबेल पुरस्‍कार विजेता कैलाश सत्‍यार्थी राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ(आरएसएस) के विजयादश्‍मी के अवसर पर होने वाले कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि होंगे और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के साथ मंच साझा करेंगे। आरएसएस का यह कार्यक्रम 18 अक्‍टूबर को नागपुर के रेशमीबाग मैदान में होगा।

कैलास सत्यार्थी को साल 2014 में शांति का नोबेल पुरस्कार मिला था। उन्‍हें बच्चों को बाल श्रम से मुक्ति दिलाने के लिए जाना जाता है। सत्‍यार्थी ने अपने जीवन में हजारों बच्चों को बाल श्रम से मुक्त कराया है। इसलिए आरएसएस ने इस बार अपने विजयादशमी के कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि के रूप में उन्‍हें आमंत्रित किया है। बता दें कि आरएसएस प्रत्येक वर्ष विजयादशमी को अपने स्थापना दिवस के रूप में मनाता है। साल 1925 में विजयादशमी के ही दिन आरएसएस की स्थापना हुई।

गौरतलब है कि विजयादशमी के अवसर पर आरएसएस की तरफ से आयोजित होने वाले कार्यक्रम इससे पहले भी देश की कई जानी-मानी हस्तियां शामिल हो चुकी हैं। इस साल जून में ही भारत के पुर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तृतीय वर्ष शिक्षा वर्ग के समापन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए थे, जिसे लेकर काफी चर्चा हुई थी। कांग्रेस पार्टी के कुछ नेताओं ने प्रणब मुखर्जी को इस कार्यक्रम में शामिल न होने की भी सलाह दी थी।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप