मुंबई। शीना बोरा मर्डर केस में सभी आरोपियों की न्यायिक हिरासत को बढ़ा दिया है। अब ये लोग 6 जून तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे। इस केस की सुनवाई सीबीआइ की स्पेशल कोर्ट में चल रही है। इस मामले में शीना की मां इंद्राणी मुखर्जी के साथ ही उनके पति पीटर मुखर्जी, संजीव खन्ना और उनके पूर्व ड्राइवर श्यामवर राय आरोपी हैं।

इससे पहले इस हाई प्रोफाइल शीना बोरा मर्डर केस में आरोपी ड्राइवर ने नया खुलासा किया था। इंद्राणी मुखर्जी के ड्राइवर श्यामवीर ने कबूल किया था कि शीना को उसके सामने गला घोटकर मारा गया था। ड्राइवर ने सीबीआइ कोर्ट के सामने सरकारी गवाह बनने की पेशकश रखी है।


शीना बोरी के हत्यारोपी ड्राइवर श्यामवीर ने सीबीआई कोर्ट के सामने कहा कि शीला का गला घोंटा गया था। मैं इस घटना से वाफिक था। मैं हत्या के वक्त वहीं मौजूद था।


कोर्ट ने लगाई पुलिस को फटकार

स्पेशल सीबीआइ कोर्ट ने आरोपियों को पेश नहीं किए जाने पर पुलिस को फटकार लगाई है। कोर्ट ने पुलिस को अगली सुनवाई में सभी आरोपियों को पेश करने का आदेश दिया है। सोमवार को सुनवाई के दौरान कोर्ट ने ठाणे जेल के अफसरों को फटकार लगाई थी। कोर्ट ने पुलिस से कहा कि इस मामले की अगली सुनवाई के दौरान इंद्राणी, संजीव खन्ना, पीटर मुखर्जी, सभी को पेश किया जाए।

ड्राइवर ने ही किया था हत्या का खुलासा
गौरतलब है कि शीना बोरा स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी की पत्नी इंद्राणी मुखर्जी की बेटी थी। इंद्राणी पर शीना की हत्या का आरोप है। बता दें कि हत्या का खुलासा भी इंद्राणी के ड्राइवर श्यामवीर राय ने ही किया था। राय को अवैध पिस्टल रखने के सिलसिले में गिरफ्तार किया जाता है। पुलिस उससे पूछताछ करती है।

पूछताछ में वह कबूल करता है कि वो पहले भी कई जुर्म कर चुका है। इनमें 2012 में एक मर्डर भी शामिल है। राय ही वो शख्स था जो पहली बार खुलासा करता है कि मर्डर करने के बाद उसने लाश को रायगढ़ के जंगलों में जला और दफना दिया था। सख्ती से पूछताछ करने पर श्यामवीर बताता है कि इंद्राणी के कहने पर ही उसने शीना बोरा नाम की महिला का कत्ल कर लाश रायगढ़ के जंगल में दफना दी थी।


क्या है पूरा मामला?
श्याम के बयान और सबूतों के आधार पर मुंबई पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया के नेतृत्व में एक टीम इंद्राणी मुखर्जी को उनके घर से गिरफ्तार करती है। श्याम राय ने बताया कि 24 अप्रैल 2012 को इंद्राणी ने बेटी शीना को फोन करके नेशनल कॉलेज बुलाया।

शीना उस समय पीटर मुखर्जी के बेटे राहुल मुखर्जी के साथ लिव इन रिलेशनशिप में थी। मां का फोन आने के बाद शीना को छोड़ने के लिए राहुल ही गया था। राहुल उसे छोड़कर चला गया। इसके बाद इंद्राणी ने शीना को कार में बैठने के लिए कहा। उस वक्त कार में उसके साथ ड्राइवर श्याम राय और पूर्व पति संजीव खन्ना भी था।

जब शीना ने कार में बैठने से मना किया तो इन लोगों ने उसे जबरदस्ती कार में बिठा लिया। आरोप है कि कार में हुई कहासुनी के बाद तीनों ने गला घोंटकर शीना को मार डाला। इसके बाद शीना की लाश को कार में रखकर इंद्राणी घर आ गई।

जिस कार में शव रखा था,वह रात भर पीटर के गैराज में रही। अगली सुबह 25 अप्रेल को हत्या के तीनों आरोपी एकत्रित हुए। शव को लेकर रायगढ़ के जंगलों में गए। शव को पेट्रोल डालकर जलाया गया। इसके बाद उसे वहीं दफना दिया।

पढ़ें- ड्राइवर का खुलासा, मेरे सामने शीना बोरा का गला दबाया गया

पढ़ें- शीना बोरा हत्याकांड पर बनी फिल्म पर रोक से इन्कार

Posted By: Abhishek Pratap Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप