लेह,आइएएनएस। जम्मू-कश्मीर के लेह जिले में पत्रकारों ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर उन्हें रिश्वत देने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। एक स्थानीय पत्रकार ने बताया कि 2 मई को राज्य भाजपा प्रमुख रविंद्र रैना ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। उसके बाद लद्दाख क्षेत्र के एक होटल में लेह प्रेस क्लब के मीडियाकर्मियों के बीच लिफाफे वितरित किए गए।

पत्रकार ने बताया, 'हमें कहा गया कि हॉल में लिफाफों को न खोले, लेकिन इससे मुझे संदेह हुआ। लिफाफा खोलने के बाद मैं हैरान रह गई, उसमें मुझे 500-500 रुपये के नोट मिले'। उन्होंने आगे बताया कि जब हमने लिफाफा वापस करने की कोशिश की, तो भाजपा नेता ने इसे वापस लेने से इनकार कर दिया।

उन्होंने कहा कि रैना की उपस्थिति में भाजपा नेता विक्रम रंधावा द्वारा लिफाफे वितरित किए गए। हालांकि उन्होंने बताया कि इस संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी (डीईओ) और पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है।

इस मामले में लेह के डीईओ अवनी लवासा ने संवाददाताओं को बताया कि शिकायत पुलिस को भेज दी गई है जिन्होंने शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया है।

बता दें कि मंगलवार को एक वीडियो वायरल था, जिसमें साफतौर पर देखा जा सकता था कि भाजपा नेता पत्रकारों के बीच लिफाफे वितरित कर रहे है। इसे डीईओ अवनी लवासा ने भी सही माना है और पत्रकारों द्वारा लगाए गए आरोप भी इससे सिद्ध होते है। बताया गया कि यह रिश्वतखोरी की वीडियो होटल सिंगेज पैलेस का है।

आरोपों का किया खंडन
भाजपा ने सभी आरोपों का खंडन करते हुए पत्रकारों के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करने की बात कही है। रैना ने कहा, 'हम इस तरह के आरोपों को बर्दाश्त नहीं करेंगे। अगर इसपर सार्वजनिक माफी नहीं मांगी जाती हैं तो हम हाईकोर्ट में प्रेस क्लब के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे।' वहीं एक अन्य भाजपा नेता ने कहा कि पार्टी रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की चुनावी रैली को कवर करने के लिए स्थानीय पत्रकारों को निमंत्रण पत्र दे रही थी। बता दें कि लद्दाख संसदीय क्षेत्र में 6 मई को चुनाव हुए थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora