मुंबई, प्रेट्र। जेट एयरवेज ने रविवार को मुंबई से देश के अन्य हिस्सों में जाने वाली दस उड़ानों को रद कर दिया। इसके कारण सैकड़ों यात्री परेशानी में फंस गए। जेट एयरवेज ने कहा कि परिचालन कारणों (आपरेशनल इश्यू) से छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ानों को रद करना पड़ा। हालांकि सूत्रों के अनुसार, पायलट की अनुपलब्धता के कारण एयरलाइन कंपनी को ऐसा करना पड़ा।

एयरलाइन कंपनी ने जारी बयान में कहा, 'जेट एयरवेज को 18 नवंबर को परिचालन कारणों से कुछ घरेलू उड़ानों को रद करना पड़ा। प्रभावित उड़ानों के यात्रियों को एसएमएस के जरिये वस्तुस्थिति से अवगत करा दिया गया था। नियमानुसार यात्रियों को दूसरी उड़ानों में समायोजित करा दिया गया या उन्हें क्षतिपूर्ति दी गई।'

उधर, सूत्रों का कहना है कि एयरलाइन कंपनी पायलट, इंजीनियर और वरिष्ठ प्रबंधकों को नियमित वेतन भुगतान नहीं कर पा रही है। नकदी संकट से गुजर रही नरेश गोयल के नियंत्रण वाली इस निजी एयरलाइन कंपनी के कई पायलट हाल के दिनों में नौकरी छोड़ चुके हैं। संकट के दौर से गुजर रही इस कंपनी के कई पायलटों को ओवरटाइम करना पड़ रहा है।

सूत्र बताते हैं कि रविवार को भी पायलटों की कमी के कारण ही उड़ानों को रद करना पड़ा। एयरलाइन कंपनी में पायलटों की कमी महीनों से चल रही है। वित्तीय संकट के कारण कंपनी नये पायलटों की नियुक्त नहीं कर पा रही है।

 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Arun Kumar Singh