जम्‍मू, जेएनएन/एजेंसी। जम्‍मू-कश्‍मीर में सीमा पार से पड़ोसी देश की नापाक हरकतें जारी हैं। पाकिस्‍तान ने शुक्रवार सुबह कठुआ, सांबा और जम्‍मू जिले में तीन दर्जन से अधिक चौकियों और दो दर्जन गांवों पर भारी गोलाबारी शुरू कर दी। हालांकि सीमा सुरक्षा बल की ओर से कड़ी कार्रवाई की जा रही है। सबसे ज्‍यादा नुकसान जम्‍मू जिले के आर एस पुरा सेक्‍टर में हुआ। सीजफायर उल्‍लंघन में दो आम नागरिकों की मौत हो गई, जबकि दर्जन भर से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है। मरने वालों में एक महिला शामिल है, जिसकी अरनिया सेक्‍टर में मौत हुई। वहीं आएस पुरा सेक्‍टर में एक युवक निशाना बना। माल मवेशी को भी नुकसान पहुंचा है। वहीं सांबा सेक्‍टर में एक बीएसएफ हेड कांस्‍टेबल के शहीद होने की खबर है।

नागरिकों को निशाना बनाना गंभीर चिंता का विषय
जम्‍मू-कश्‍मीर के मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला ने कहा है कि यह गंभीर चिंता का विषय है कि आम नागरिकों को निशाना बनाया जा रहा है। सीमा पार से लगातार सीजफायर उल्‍लंघन हो रहा है। भारत और पाकिस्‍तान को इसका समाधान निकालने की जरूरत है।

अपनी गलतियों से सबक नहीं ले रहा पाकिस्‍तान
वहीं जम्‍मू-कश्‍मीर के उप मुख्‍यमंत्री निर्मल सिंह ने कहा कि पाकिस्‍तान जो कि मूल रूप से एक आतंकी देश है और सिर्फ हिंसा में विश्‍वास करता है, वो अपनी गलतियों से सबक नहीं ले रहा है। यह बिल्‍कुल साफ है कि पाकिस्‍तान की इन कायराना हरकतों से भारत झांसे में नहीं आने वाला है।

सीमांत क्षेत्रों में दहशत का माहौल
आपको बता दें कि पाकिस्तान ने जम्मू जिले के सीमांत क्षेत्रों में बुधवार रात से भारी गोलाबारी शुरू की थी। इसमें सीमा सुरक्षा बल के एक जवान व एक युवती की मौत हो गई थी। गोलाबारी से जम्मू व सांबा जिलों में भारी दहशत का माहौल है।

सुबह 6:45 बजे के करीब शुरू हुई गोलाबारी से आर एस पुरा से लेकर सांबा के बसंतर नदी तक का इलाका प्रभावित है। सीमा सुरक्षा बल की ओर से कड़ी कार्रवाई की जा रही है। बुधवार देर रात को भी सीमा सुरक्षा बल ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए पाकिस्तान के दो मोटर पोजीशन तबाह कर दिए थे। सीजफायर उल्‍लंघन के दौरान शहीद हुए जवान की पहचान 78 बटालियन के हेड कांस्टेबल सुरेश कुमार के रूप में हुई है।

भारतीय चौकियों पर दागे मोर्टार
पाकिस्तान ने बुधवार रात करीब साढ़े 10 बजे आरएसपुरा सेक्टर में भारत की छह पोस्टों पर मोर्टार दागने शुरू कर दिए थे। पाकिस्तान ने जिन चौकियों को निशाना बनाया, वे रिहायशी इलाकों के साथ सटी हैं, उनमें निक्कोवाल, सतोवाली, बाकरपुर, घराना, सुचेतगढ़, अब्दुल्लियां और कोरोटाना शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान ने स्नाइपर शॉट भी मारा, जिसमें बाकरपुर पोस्ट पर तैनात बीएसएफ का हेड कांस्टेबल शहीद हो गया। बीएसएफ के जवानों ने भी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया।

घुसपैठ की कोशिश में पाकिस्‍तान

पाकिस्तान की ओर से की जा रही इस भारी गोलाबारी की आड़ में आतंकियों की घुसपैठ की आशंका को भी नकारा नहीं जा सकता। पाकिस्तान पहले भी ऐसा कई बार करता रहा है। ऐसे में बीएसएफ के जवान हर स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। गौरतलब है कि इससे पहले तीन जनवरी को भी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सांबा में पाकिस्तान ने स्नाइपर शॉट दागा था, जिसमें बीएसएफ जवान शहीद हो गया था। भारत ने उसी रात जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान के 10 रेंजर ढेर कर दिए थे।

यह भी पढ़ें: डोकलाम में यथास्थिति, दोनों देशों की सेनाएं जहां पर लौटी थीं वहीं पर हैं: रवीश

Posted By: Pratibha Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस