श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। सुरक्षाबलों ने दक्षिण कश्मीर में ग्रामीणों और पंच-सरपंचों को डरा-धमका रहे आतंकियों के खिलाफ अपने अभियान को जारी रखते हुए मंगलवार को राजपोरा (त्राल) में जैश-ए-मुहम्मद के तीन आतंकियों को मार गिराया। मारे गए आतंकियों में दो विदेशी और एक स्थानीय बताया जा रहा है। मुठभेड़स्थल से सुरक्षाबलों ने भारी मात्रा में हथियार और गोलाबारूद भी बरामद किया है।

पांच अगस्त के बाद घाटी में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच यह पांचवी और दक्षिण कश्मीर में दूसरी मुठभेड़ है। इससे पूर्व आठ अक्टूबर को अवंतीपोर के कावनी इलाके में सुरक्षाबलों ने लश्कर के दो स्थानीय आतंकियों उफैद और अब्बास को मार गिराया था। अन्य तीन मुठभेड़ों में एक जिला गांदरबल में और दो उत्तरी कश्मीर के बारामुला व सोपोर में हुई हैं। अब तक पांच मुठभेड़ों में कुल नौ आतंकी मारे गए हैं।

अवंतीपोर से मिली जानकारी के अनुसार, दोपहर को पुलिस को अपने तंत्र से पता चला कि जैश के तीन आतंकी त्राल के राजपोरा इलाके में काजीनाग में आए हुए हैं। राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल के जवानों ने उसी समय सेना और सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर इन आतंकियों के खिलाफ एक अभियान चलाया। दोपहर तीन बजे यह अभियान शुरू हुआ और सुरक्षाबलों ने आतंकियों के ठिकाने का अनुमान लगाते हुए घेराबंदी शुरू कर दी।

करीब दो घंटे बाद जब जवान तलाशी लेते हुए आगे बढ़ रहे थे तो मकान में छिपे आतंकियों ने उन पर फायरिंग करते हुए वहां से भागने का प्रयास किया। जवानों ने खुद को बचाते हुए जवाबी फायर किया। इसके बाद दोनों तरफ से भीषण गोलीबारी शुरू हो गई। संबंधित अधिकारियों ने बताया कि आतंकियों की तरफ से अंतिम गोली करीब पौने आठ बजे चली। लगभग 15 मिनट तक जब आतंकियों की तरफ से कोई फायरिंग नहीं हुई तो जवानों ने सावधानीपूर्वक आगे बढ़ते हुए आतंकी ठिकाना बने मकान की तलाशी ली। इस दौरान उन्हें वहां गोलियों से छलनी तीन आतंकियों के शव व उनके हथियार मिले। मारे गए आतंकियों के पास से आतंकी संगठन से जुड़े कई दस्तावेज, दो अत्याधुनिक वायरलेस और एक जीपीएस भी कथित तौर पर मिला है।

गुज्जर समुदाय के दो लोगों की हत्या में थे शामिल

राज्य पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने राजपोरा, त्राल में जैश के तीन आतंकियों की मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि ये आतंकी गत अगस्त माह में त्राल के ऊपरी क्षेत्र में गुज्जर समुदाय के दो लोगों को अगवा कर मौत के घाट उतारने की वारदात में शामिल थे। फिलहाल, इन आतंकियों के अन्य साथी जो त्राल के आस-पास ही कहीं छिपे हैं, उन्हें मार गिराने के लिए सुरक्षाबलों का अभियान जारी है।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप