नई दिल्ली। भारत-पाकिस्तान के बीच होने वाले विश्व टी20 क्रिकेट मैच पर छिड़ी सुरक्षा की बहस बढ़ती ही जा रही है। मैच के दौरान खिलाड़ियों की सुरक्षा पर आज गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि भारत की धरती पर सभी को सुरक्षा देना सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है। दूसरी तरफ पाकिस्तान में आंतरिक मामलों के मंत्री निसार अली ने क्रिकेट मैच के दौरान खिलाड़ियों की सुरक्षा को गंभीर विषय बताते हुए प्रश्य किया है कि "क्रिकेट मैच धमकियों के साये में कैसे खेला जा सकता है?"

पाकिस्तान के भारत आने पर सस्पेंस बरकरार, पाक चाहता है सुरक्षा की गारंटी

गौरतलब है कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम के भारत आने पर अभी भी सस्पेंस बरकरार है। दरअसल, पाकिस्तान अपने खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए भारत से पूरी सुरक्षा की गारंटी की मांग कर रहा है। आईसीसी ने सुरक्षा कारणों के कारण भारत-पाक मैच के आयोजन को धर्मशाला से कोलकाता शिफ्ट कर दिया गया है। लेकिन पाकिस्तान इससे संतुष्ट नहीं है।

पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री चौधरी निसार अली खान ने कहा 'भारत को पाकिस्तानी खिलाड़ियों की पुख्ता सुरक्षा के लिए गारंटी देनी होगी। नहीं तो पाकिस्तानी खिलाड़ी भारत मैच खेलने नहीं जाएंगे।'

चौधरी निसार ने कहा, धमकियों के बीच मैच नहीं हो सकता है। भारत पहले सुरक्षा की पूरी गारंटी दे उसके बाद ही मैच हो सकता है।

गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजु ने कहा कि चाहे पाकिस्तान हो या कोई और देश भारत सरकार सुरक्षा मुहैया कराने में कोई कोताही नहीं बरतेगी।

बुधवार के आइसीसी ने इस बात का एलान किया कि सुरक्षा कारणों और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के विरोध के बाद मैच वेन्यू बदला गया है। पीसीबी अध्यक्ष शहरयार खान ने मुकाबले को कोलकाता स्थानांतरित करने के फैसले का स्वागत किया, लेकिन भारत सरकार से आश्वासन मिलने के इंतजार में अब भी टीम की रवानगी टाल दी है।

वीरभद्र ने दिया पाक को सवाल उठाने का मौका

बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर ने कहा है कि भारत सभी टीमों को पर्याप्त सुरक्षा देने के लिए प्रतिबद्ध है। अनुराग ने ये भी कहा कि हर देश की टीम को अलग-अलग ग्रीन सिग्नल नहीं दिया जाता है। पाक को भारत आने के लिए अपना मन बनाना होगा। निर्णय पाकिस्तान को लेना है।

मामले को लेकर अनुराग ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश के सीएम वीरभद्र सिंह पर निशाना भी साधा। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह ने पाकिस्तान को भारत की सुरक्षा पर सवाल खड़ा करने का मौका दे दिया है।

Edited By: Gunateet Ojha