नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। सोशल मीडिया के बढ़ते चलन के साथ, इससे जुड़े तरह-तरह के खतरे भी बढ़ते जा रहे हैं। सबसे बड़ा खतरा, सोशल मीडिया प्लेटफार्म से आपकी गोपनीय जानकारी लीक होने का होता है। इसकी खबरें आए दिन सामने आती रहती हैं। पिछले दिनों फेसबुक यूजर्स का डाटा लीक होने को लेकर काफी हंगामा मचा था। डाटा लीक से यूजर्स इतना डर गए कि लाखों यूजर्स ने अपना अकाउंट डिलीट कर दिया। इसे लेकर फेसबुक ने माफी भी मांगी और वक्त-वक्त पर वह डाटा सिक्योरिटी संबंधित सेटिंग्स को अपडेट भी करता रहता है। आइये जानतें हैं फेसबुक पर अपना गोपनीय डाटा सुरक्षित रखने के कुछ आसान टिप्स, जो आपको भविष्य के बड़े खतरों से बचा सकते हैं।

पिछले साल खबर आई थी कि फेसबुक यूजर्स के डाटा का अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को फायदा पहुंचाने के लिए गलत इस्तेमाल किया गया। इसके बाद हाल में भारत में हुए लोकसभा चुनावों से पहले भी इस तरह के डाटा मिस यूज की आशंका जाहिर की गई थी। इतना ही नहीं निजी कंपनियों द्वारा भी फेसबुक यूजर्स का गोपनीय डाटा खरीदने और उसका यूज करने की खबरें अक्सर सामने आती रहती हैं। महत्वपूर्ण बात ये है कि यूजर्स को उनका डाटा बेचे जाने का पता भी नहीं चलता है।

साइबर क्राइम विशेषज्ञों के अनुसार इंटरनेट पर यूजर्स तभी तक सुरक्षित हैं, जब तक वह सजग हैं। मोबाइल एप्स बड़ी आसानी से यूजर्स से उनका डाटा एकत्र करने की अनुमति ले लेती हैं। इस तरह के एप्स आपके मोबाइल की हर गतिविधि पर पूरी नजर रखते हैं और आपको बिना बताए किसी भी डाटा का अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर लेते हैं। इन एप्स को आपकी पल-पल की गतिविधि की जानकारी होती है। आप कहां जा रहे हैं? आप किसे फोन या मैसेज कर रहे हैं? आप मोबाइल पर क्या देख या कर रहे हैं?

दो तरह की होती है परमिशन
साइबर विशेषज्ञों के अनुसार एंड्रॉयड फ्रेमवर्क में सामान्य तौर पर दो तरह की अनुमति होती है। एक सामान्य अनुमति और दुसरी सेंसिटिव अनुमति। सामान्य अनुमति जैसे वाईफाई, ब्लूटूथ, वॉलपेपर और अलार्म आदि के लिए एप अलग से इजाजत नहीं मागते, ये उन्हें स्वतः मिल जाती है। सेंसटिविटी अनुमति जैसे कैमरा, लोकेशन, माइक्रोफोन, कॉल व एसएमएस लॉग और स्टोरेज आदि के लिए ऐप्स को यूजर की इजाजत की जरूरत होती है। सामान्यतः यूजर्स इसकी अनुमति दे भी देते हैं, क्योंकि बिना परमिशन के ऐप सही से काम नहीं करते या डाउनलोड ही नहीं होते हैं।

ऐसे करे ऐप को दी गई अनुमति का रिव्यू
डाटा चोरी से बचने के लिए आपको ऐप डाउनलोड करते वक्त ही सावधान रहना चाहिए। चूंकि, हर ऐप को किसी खास काम के लिए डाउनलोड किया जाता है, लिहाजा उसे हर चीज की परमिशन देने की जरूरत नहीं है। जैसे कोई गेम ऐप है तो उसे फोटो गैलरी, कॉल, कैमरा या मैसेज पढ़ने की अनुमति देना आवश्यक नहीं है। आप मोबाइल में पहले से डाउनलोडेड एप को दी गई अनुमति का भी रिव्यू कर सकते हैं। इसके लिए आपको फोन की सेटिंग में जाकर Apps या Apps & Notifications देखें। यहां मोबाइल में मौजूद सभी ऐप की लिस्ट दिख जाएगी। इसके बाद किसी भी ऐप को क्लिक कर, Permissions का रिव्यू या बदलाव कर सकते हैं।

फेसबुक पर डाटा सुरक्षित रखने के आसान उपाय
Login with facebook से बचेः ब्राउजर या ऐप में कोई नई चीज खोलने पर अक्सर आपको आईडी बनाने या फिर ‘लॉग-इन विद जीमेल’ या ‘लॉग-इन विद फेसबुक’ के लिए कहा जाता है। यूजर जल्दबाजी में आईडी बनाने की जगह अन्य दो में से किसी एक विकल्प का चुनाव कर लेते हैं। ऐसा करते ही यूजर उस साइट या एप को जीमेल या फेसबुक संबंधी सभी मंजूरी प्रदान कर देते हैं। इसके बाद वह हमेशा के लिए आपके सोशल मीडिया अकाउंट में तांकझांक करना शुरू कर देता है।

Facebook App की Settings जांचेः फेसबुक ऐप की सेटिंग्स में जाएं। यहा बिल्कुल नीचे Apps का विकल्प मिलेगा, उसे क्लिक करें। यहां Logged in with facebook पर क्लिक कर, उन ऐप्स की पूरी लिस्ट देखें, जिन्हें आपके फेसबुक अकाउंट के जरिए लॉग-इन किया है। यहां से ऐप को सेलेक्ट कर डिलीट कर सकते हैं।

निजी जानकारी सार्वजनिक न करेः फेसबुक पर अपनी निजी जानकारी जैसे फोन नंबर, जन्मतिथि, पैन नंबर, आधार नंबर, मकान नंबर आदि गोपनीय चीजें सार्वजनिक न करें। इससे आप मुसीबत में फंस सकते हैं। अगर आपने ऐसा कर रखा है तो फेसबुक ऐप खोलकर दाहिनी तरफ ऊपर तीन लाइनों को टैप करें। इसके बाद अकाउंट सेटिंग्स में जाकर प्राइवेसी में जाएं। यहां Check a few important settings में जाकर Next पर क्लिक करें। इसके बाद Choose Audience को पब्लिक, फ्रेंड्स आदि में से चुनाव करें। इसके बाद next पर क्लिक कर अपने मोबाइल नंबर, ईमेल, जन्मतिथि वगैरह को Only me कर दें।

Facebook Dual Security: इसे एक्टिवेट करने पर आपको फेसबुक लॉगइन करते वक्त यूजर नेम व पासवर्ड के साथ एक वैरीफिकेशन कोड की भी आवश्यकता होगी, जो कि आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आएगा। इससे आपके फेसबुक अकाउंट को दोहरी सुरक्षा मिलेगी। इसके लिए फेसबुक ऐप पर तीनों लाइनों को क्लिक कर Account Settings में जाकर Security and login में जाएं। इसके बाद Setting up extra security में जाकर use two factor authentication का विकल्प मिलेगा। इसे ऑन कर दें।

Login Alet: Account Settings के अंदर Security and login में जाएं और Gets alerts about unrecognized logins को ऑन कर दें। इसके बाद अगर कोई आपकी मर्जी के बगैर आपका फेसबुक अकाउंट लॉगइन करने का प्रयास करेगा तो पके मोबाइल या ईमेल पर अलर्ट आ जाएगा।

Posted By: Amit Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप