चेन्नई, प्रेट्र। भारतीय रेलवे की खानपान व पर्यटन इकाई आइआरसीटीसी ने चेन्नई के 12वीं कक्षा के एक छात्र द्वारा सतर्क किए जाने के बाद अपने ई-टिकटिंग प्लेटफार्म पर बग की समस्या को ठीक कर लिया है। वेबसाइट पर इनसिक्योर डायरेक्ट आब्जेक्ट रिफरेंसेज (आइडीओआर) की मौजूदगी थी। इसके जरिये वेबसाइट की संवेदनशील जानकारियों से छेड़छाड़ की जा सकती है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि आइआरसीटीसी की प्रौद्योगिकी टीम ने छात्र की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए तत्काल इस समस्या को दूर किया। उन्होंने कहा, 'हमारी ई-टिकटिंग प्रणाली अब पूरी तरह से सुरक्षित है। इस समस्या की जानकारी 30 अगस्त को हुई थी और इसे दो सितंबर को ठीक कर लिया गया।'

छात्र ने इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम को दी थी जानकारी

चेन्नई के तंबारम के एक निजी विद्यालय में पढ़ने वाले 12वीं कक्षा के छात्र पी. रेंगानाथम ने बताया कि वह 30 अगस्त को जब टिकट बुक करने की कोशिश कर रहा था तो उसे वेबसाइट पर यह समस्या (आइडीओआर) देखी। यह बेहद आम समस्या है। उसने तत्काल इसकी जानकारी इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीइआरटी-इन) को दी।

छात्र ने इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत काम करनेवाली सीईआरटी-इन को लिखे ईमेल में कहा कि इसके जरिये कोई किसी दूसरे का टिकट रद कर सकता है और संवेदनशील जानकारियां भी जुटा सकता है।

महत्वपूर्ण कदम उठाने जा रहा भारतीय रेलवे

भारतीय रेलवे अक्टूबर महीने में महत्वपूर्ण कदम उठाने जा रही है। रेलवे इस साल निर्धारित महीने अक्टूबर में नई समय सारिणी जारी करेगा। यह समया सारिणी पिछले वर्ष कोविड के कारण नहीं जारी हो पाई थी, लेकिन अब धीरे-धीरे ट्रेनों का परिचालन प्रारंभ हो गया है। फिलहाल सभी ट्रेनें बतौर स्पेशल ट्रेन चल रही है।

यह भी पढ़ें: दर्जनभर से ज्यादा केंद्रीय विश्वविद्यालय में नहीं शुरू हो पाई भर्ती प्रक्रिया, अगले हफ्ते वैकेंसी जारी होने के संकेत