नीलू रंजन, नई दिल्ली। ईडी की जांच में पीएमसी घोटाले से जुड़े सनसनीखेज तथ्य सामने आ रहे हैं। जांच के दौरान जो सबूत मिले हैं, उससे साफ पता चलता है कि पीएमसी बैंक में जमा खाताधारकों की खून-पसीने की कमाई सीधे इकबाल मिर्ची की जेब में पहुंच रही थी। पीएमसी बैंक से लोन लेकर डीएचएफएल आगे सनब्लिंक रियल्टर्स को लोन दे रहा था और मुंबई के वर्ली स्थित इकबाल मिर्ची की संपत्तियों को खरीदने के लिए सनब्लिंक रियल्टर्स इसी लोन की रकम का इस्तेमाल कर रहा था।D

करोड़ो का लिया था लोन

ईडी के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार डीएचएफएल ने पीएमसी बैंक से कुल 4355 करोड़ रुपये का लोन लिया था। इस लोन के पैसे ले दो निजी हवाई जहाज और अन्य संपत्तियां खरीदने के अलावा डीएचएफएल ने सनब्लिंक रियल्टर्स को 2186 करोड़ रुपये का लोन दे दिया। बताया जाता है कि इसी लोन के पैसे से सनब्लिंक रियल्टर्स ने इकबाल मिर्ची की संपत्ति खरीदी और इसके एवज में मिर्ची को कुल 225 करोड़ रुपये का पेमेंट किया। यह पेमेंट हवाला के मार्फत भेजी गई थी, जिसका इस्तेमाल इकबाल मर्चेट ने दुबई में पांच सितारा होटल खरीदने में किया था।

पर्जी दस्तावेजों के आधार पर खोले बैंक खाते

ईडी ने मंगलवार को सनब्लिंक रियल्टर्स और इकबाल मिर्ची के साथ डील कराने वाले दो बिचौलियों हुमायूं मर्चेट और रिंकू देशपांडे को गिरफ्तार किया है। हुमायूं मर्चेट ने ईडी के सामने स्वीकार भी कर दिया है कि इकबाल मिर्ची उसके बचपन का दोस्त है और डीएचएफएल के प्रमोटर धीरज वधावन ने शुरू में इस डील के लिए पांच करोड़ रुपये दिये थे। लेकिन बाद उसे डील से हटा दिया गया। वहीं रिंकू देशपांडे पर आरोप है कि उसने चेन्नई में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बैंक खाते खोले और उनसे पैसे निकालकर हवाला के मार्फत इकबाल मिर्ची तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। रिंकू देशपांडे को अदालत ने शुक्रवार तक के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया है, जहां उससे पूछताछ की जाएगी।

ध्यान देने की बात है कि इकबाल मिर्ची से व्यवसायिक लेन-देन को लेकर घेरे में आए पूर्व नागरिक उड्डयन मंत्री और वरिष्ठ राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल के तार भी पीएमसी बैंक घोटाले से जुड़े हुए हैं। पीएमसी बैंक से लिए लोन के पैसे से डीएचएफएल ने दो निजी चार्टर्ड विमान खरीदे थे। इनमें एक चार्टर्ड विमान का इस्तेमाल प्रफुल्ल पटेल कर रहे थे।

यह भी पढ़ें: सुभाष चोपड़ा बने दिल्‍ली कांग्रेस के नए अध्‍यक्ष, कीर्ति आजाद को भी मिली अहम जिम्मेदारी

यह भी पढ़ें: खूनी संघर्ष खत्म करना चाहता है चीन, अफगान सम्मेलन के लिए तालिबान को भेजा न्योता

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप