नई दिल्ली। विश्व के सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले अखबार "दैनिक जागरण" के शानदार प्रदर्शन का सिलसिला जारी है। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को विश्व का सर्वश्रेष्ठ लोकतंत्र बनाने के उसके अभियान "जन जागरण" और पीतलनगरी यानी मुरादाबाद को "ई-कचरे" से मुक्त करने की मुहिम का लोहा इंटरनेशनल न्यूज मीडिया एसोसिएशन (आइएनएमए) ने भी माना है।

मंगलवार रात न्यूयॉर्क के "टाइम्स स्क्वायर" पर संपन्न संस्था के 85वें वार्षिक विश्व सम्मेलन में "दैनिक जागरण" को उसके "जन जागरण" व "ई-कचरा" अभियान के लिए क्रमशः स्वर्ण व कांस्य पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। इन्हें मिलाकर "दैनिक जागरण" को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस वर्ष अब तक 18 पुरस्कार मिल चुके हैं।

आइएनएमए पुरस्कारों से पूर्व समाचार पत्रों और प्रकाशकों की जानी-मानी संस्था वैन इफ्रा भी "दैनिक जागरण" को अपने प्रतिष्ठित कलर क्वालिटी क्लब के दो पुरस्कारों से सम्मानित कर चुकी है। इसके अलावा भारतीय विज्ञापन जगत के ऑस्कर कहे जाने वाले एब्बी अवार्ड्स के समारोह में भी "दैनिक जागरण" ने चार पदक झटके थे।

अधिक से अधिक ग्राहकों को जोड़ने के लिए विचार-विमर्श और परिचर्चा को बढ़ावा देने वाली संस्था एशियन कस्टमर इंगेजमेंट फोरम भी "दैनिक जागरण" को आठ पुरस्कार प्रदान कर चुकी है।

पढ़ेंः भाजपा सांसदों को नायडू ने भेजा दैनिक जागरण का लिंक

पढ़ेंः 'जागरण' को दिए इंटरव्यू को पीएम ने किया सोशल मीडिया पर शेयर

Posted By: manoj yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप