इंफाल, एएनआइ। कृषि के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए मणिपुर में राष्ट्रीय स्वदेशी बीज उत्सव 2019(National Indigenous Seeds Festival 2019) का आयोजन किया गया है। यह फेस्टिवल केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय (CAU)परिसर, इरोशिम्बा में आयोजित किया गया है। 3 दिन तक चलने वाले इस इवेंट ( Event) में अलग-अलग राज्यों से कई किसानों और एनजीओ( NGO) के अधिकारियों ने हिस्सा लिया। 14 अक्टूबर 2019 तक यह फेस्टिवल चलेगा।

राष्ट्रीय स्वदेशी बीज उत्सव 2019 का उद्देश्य

इस त्योहार का उद्देश्य स्वदेशी बीज( Indigenous Seeds) के पारिस्थितिकी तंत्र का संरक्षण, स्वदेशी बीजों को पुनर्जीवित करना, किसानों के साथ नेटवर्किंग, पारंपरिक ज्ञान की रक्षा करना, कृषि-जैव विविधता और कृषि-पारिस्थितिकी संरक्षण गतिविधियों को सुनिश्चित करना है।

किसानों को स्वदेशी ज्ञान में मिलेगी सहायता

यह त्योहार किसानों को एक साथ आने और स्वदेशी ज्ञान, उनके विचारों और संस्कृति, बीजों के आदान-प्रदान के साथ कई और चीजों का आदान-प्रदान करने के लिए एक मंच बनाने में मदद करेगा।

सेमिनार में इन चीजों की होगी प्रदर्शनी

इस सेमिनार(Seminar) में बीज और संबंधित मुद्दों पर एक संगोष्ठी, सुगंधित पौधों की प्रदर्शनी, कृषि और संबद्ध उत्पादों के लिए स्टालों का आयोजन किया गया है।

भारत वीज स्वराज मंच ने दिया तकनीकी सहयोग

सभी मणिपुर प्रशिक्षित औषधीय और सुगंधित पौधे प्रमोटर कंसोर्टियम( Aromatic Plants Promoters Consortium) ने इस तीन दिवसीय फेस्टिवस का आयोजन किया है। भारत वीज स्वराज मंच (Bharat Beej Swaraj Manch)की तरफ से इस आयोजन के लिए तकनीकी सहयोग दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: मुंबई में ड्रीमलैंड सिनेमा के पास रिहायशी इमारत में आग, तीन घायल, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

यह भी पढ़ें: राजस्‍थान में भूकंप के तगड़े झटके, घरों से बाहर निकले लोग, 4.5 मापी गई तीव्रता

यह भी पढ़ें: PM Modi in Maharashtra Live:सरकार के लिए एक बार फिर आप सभी का आशीर्वाद लेने आए हैं

 

Posted By: Pooja Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप