नई दिल्ली, एजेंसी। कोरोना महामारी के कारण देश में लॉकडाउन के बीच सरकार ने कल यानी 12 मई से ट्रेन सेवाएं शुरू करने का फैसला किया है। इसके लिए आज शाम 4 बजे से ऑनलाइऩ टिकट बुकिंग शुरु होनी थी। लेकिन तकनीकी दिक्कत के कारण बुकिंग नहीं शुरु हो सकी। इसके बाद 6 बजे से बुकिंग शुरु हई, लेकिन तकनीकी खामियों की वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। IRCTC की वेबसाइट फिर से ओपन नहीं हो रही है। वहीं समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार एक रेलवे अधिकारी ने बताया कि हावड़ा से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जाने वाली ट्रेन की सभी 3AC टिकट 10 मिनट से भी कम समय में बुक हो गई।

रेलवे ने ट्विट कर दी थी जानकारी

शाम 4 बजे IRCTC की वेबसाइट ओपन नहीं होने से यात्रियों को काफी असुविधा हुई। इसके बाद रेल मंत्रालय ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है कि डेटा को वेबसाइट में फीड किया जा रहा है, जैसे ही यह काम पूरा होता है बुकिंग फिर से शुरू हो जाएगी।  

बता दे कि इससे पहले 4 बजने के साथ ही लोग टिकट बनाने के लिए लगातार IRCTC की वेबसाइट पर विजिट कर रहे थे। लेकिन वेबसाइट खुली नहीं। IRCTC का मोबाइल ऐप भी काम नहीं कर रहा था। ऐसे में लोग टिकट बनाने के लिए काफी परेशान हुए।  

यात्रियों की असुविधा पर खेद जताते हुए रेलवे ने कहा है कि स्पेशल ट्रेनों से संबंधित डेटा आईआरसीटीसी की वेबसाइट में फीड किया जा रहा है। जिस वजह से टिकट बुकिंग सुविधा थोड़ी देर में उपलब्ध होगी। 

पटना-दिल्ली के बीच तीन स्टॉपेज

दिल्ली से पटना के लिए चलने वाली स्पेशल ट्रेन महज बीच में तीन स्टेशनों पर रुकेगी। जिसमें कानपुर सेंट्रल, प्रयागराज जंक्शन और पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन है। यह ट्रेन शाम 5.15 बजे नई दिल्ली से खुलेगी और अगले दिन सुबह साढ़े 5 बजे राजेंद्रनगर(पटना) स्टेशन पहुंचेगी।

टिकट की बुकिंग सिर्फ ऑनलाइन होगी

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अलावा मंगलवार(12 मई) से पैसेंजर ट्रेनें भी चलाई जाएंगी। इसकी शुरुआत 15 जोड़ी ट्रेनों से की जाएगी। नई दिल्ली से ये ट्रेनें स्पेशल ट्रेनों के रूप में 15 अहम शहरों के लिए रवाना होंगी।

कोरोनावायरस संक्रमण को देखते हुए इन ट्रेनों की टिकटिंग के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का खास ख्याल रखा जाना जरूरी है, लिहाजा बुकिंग सिर्फ ऑनलाइन होगी। ध्यान रखें कि रेलवे स्टेशनों के टिकटिंग काउंटर बंद रहेंगे। आपको प्लेटफॉर्म टिकट भी नहीं मिलेगा। आइए जानें कि आप कैसे मिनटों में ट्रेन टिकट बुक करवा सकते हैं। स्टेप्स में समझें...

1. IRCTC की साइट पर रजिस्टर करें और अपना यूजरनेम और पासवर्ड डालकर लॉगिन करें। इसके बाद 'Book Your Ticket' पेज पर जाएं और फॉर्म पाएं- स्टेशन, यात्रा की तारीख और किस क्लास में सफर करना है... तमाम जानकारियां भरें।

2. अब आपके गंतव्य तक कौन-ससी ट्रेनें अवेलेबल हैं, यह पता लगाने के लिए आप 'Find Trains' का ऑप्शन चुनें। अगले पेज पर ट्रेनों की लिस्ट खुल जाएगी। ट्रेन की टाइमिंग और रूट आदि जानना चाहते हैं तो ट्रेन के नाम पर क्लिक करें। इसके ट्रेन सिलेक्ट करें और उसमें क्लास भरें।

3. अब ट्रेन की अवेलेबिलिटी और किराया जानने के लिए 'check availability & Fare' पर क्लिक करें। यहां जो किराया दिखेगा वह एक अडल्ट यात्री का होगा। सिलेक्ट की गई ट्रेन में 'Book Now' पर क्लिक कर टिकट बुक कर लें।

4.अब आपके सामने जो पेज खुलेगा उसमें सारी जानकारियों को रीचेक करें। इसके बाद पैसेंजरों के नाम, उम्र, सीट प्राथमिकता आदि भरें। नाम 16 कैरेक्टर से ज्यादा नहीं होने चाहिए।

5 अब बुकिंग और कैंसलेशन का फ्री SMS पाने के लिए पैंसेजर का मोबाइल नंबर भरें और 'Next' बटन पर क्लिक करें। सब ठीक है तो कॉन्टिन्यू बुक पर क्लिक करें और अगर कोई जानकारी बदलना चाहते हैं तो 'Replan booking' पर क्लिक करें। इसके बाद आपकी स्क्रीन पर सारी जानकारी आ जाएगी।

6. अब पेमेंट की बारी। कॉन्टिन्यू बुकिंग ऑप्शन पर क्लिक करने पर आपको पेमेंट ऑप्शन्स मिलेंगे जैसे- क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, मोबाइल वॉलिट आदि। पेमेंट गेटवे चुनें।

7. इसके बाद 'Make Payment' पर क्लिक करें। पेमेंट सफल होने के बाद आपके सामने टिकट कन्फर्मेशन का पेज खुलेगा। और SMS के जरिए आपको वर्चुअल रिजर्वेशन का मेसेज भी मिल जाएगा।

केवल 7 दिन का अडवांस टिकट लिया जा सकता है 

इस ट्रेन में यात्रा करने के इच्छुक यात्रियों को अडवांस टिकट कटाने की भी सुविधा दी गई है। रेलवे बोर्ड के मुताबिक इन स्पेशल ट्रेनों में अधिकतम 7 दिन तक का अडवांस टिकट कटाया जा सकेगा। आमतौर पर रेलवे की गाड़ियों में महीनों पहले अडवांस टिकट लिया जा सकता है, लेकिन इन स्पेशल गाड़ियों में उस तरह की व्यवस्था नहीं की गई है।

वेटिंग लिस्ट और आरएसी टिकट नहीं

स्पेशल ट्रेनों में ना ही वेटिंग लिस्ट जारी किए जाएंगे और ना ही आरएसी के टिकट मिलेंगे। ऐसा इसलिए, क्योंकि सरकार ने तय किया है कि इन गाड़ियों में सीट से ज्यादा यात्री कतई नहीं चढ़ाए जाएंगे। आमतौर पर देखा जाता है कि अगर वेटिंग टिकट या आरएसी टिकट जारी किया जाता है तो आरएसी वाले सभी पैसेंजर ट्रेन पर चढ़ जाते हैं, जबकि वेटिंग लिस्ट वाले भी कुछ पैसेंजर टीटीई से बात करके चले जाते हैं कि हो सकता है रास्ते में उन्हें कंफर्म सीट मिल जाए।

टिकट रद कराने पर 50 फीसद पैसा वापस मिलेगा 

रेलवे ने कहा है कि इन ट्रेनों में ट्रेन चलने से कम से कम 24 घंटे पहले टिकट रद कराया जा सकता है लेकिन टिकट रद कराने पर यात्रियों का 50 फीसद पैसा काट लिया जाएगा।

चादर और कंबल नहीं मिलेगा

यूं तो रेलवे जो स्पेशल गाड़ी चला रहा है, वह वातानुकूलित है, लेकिन इसमें कंबल और चादर (बिझाने को) दोनों ही नहीं मिलेंगे। रेल अधिकारियों का कहना है कि इन ट्रेनों में तापमान इतना ठंडा नहीं किया जाएगा, जितना आमतौर पर ठंडा किया जाता है। इसीलिए कंबल ओढ़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी। जिन्हें कंबल का उपयोग करना है तो वह घर से साथ लेकर चलेंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस