नई दिल्ली, एएनआइ। भारतीय रेलवे (Indian Railway) 19 अक्टूबर से 26 अक्टूबर तक भारत और नेपाल के बीच अपनी पहली बौद्ध सर्किट ट्रेन (Buddhist Circuit Train) चलाएगा। ट्रेन यात्रियों को भारत (India) और नेपाल (Nepal) दोनों देशों में गौतम बुद्ध (Gautam Buddha) के जीवन से जुड़े महत्वपूर्ण स्थलों की यात्रा करवाएगी।

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (IRCTC) के अनुसार, बौद्ध सर्किट ट्रेन महत्वपूर्ण बौद्ध स्मारकों को कवर करेगी। ट्रेन नई दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से यात्रियों को लेकर रवाना होगी और गौतम बुद्ध के जीवन से जुड़े स्थलों की यात्रा करवाने के बाद सफदरजंग रेलवे स्टेशन पर ही अपनी यात्रा समाप्त करेगी।

लुम्बिनी - बुद्ध का जन्मस्थान

बोधगया - प्रबुद्धता का स्थान

सारनाथ - बुद्ध के पहले उपदेश

कुशीनगर - बुद्ध के निर्वाण का स्थान

IRCTC बौद्ध सर्किट टूर पर जाने के इच्छुक पर्यटकों के लिए कई आकर्षक पैकेज भी दे रही है। एसी प्रथम श्रेणी का पैकेज लेने वाले जोड़े को इसके लिए 1,23,900 रुपये खर्च करने होंगे, जबकि एक एसी टू-टीयर के पैकेज की कीमत 1,01,430 रुपये होगी।

इस पैकेज में यात्रियों को कई सुविधाएं भी दी जा रही है। इसमें स्मारकों तक जाने के लिए पर्यटकों को एसी डीलक्स कोच की सुविधा, विभिन्न स्थानों और स्मारकों का प्रवेश शुल्क शामिल है। इसके अलावा यात्रा के दौरान पर्यटकों के आवास, भोजन, टूर प्रबंधकों और गाइडों की सेवाओं से साथ यात्रा बीमा कवर भी दिया जा रहा है।

बता दें कि ट्रेन में चार फर्स्ट एसी कोच हैं जिसमें 96 सीटें होती हैं। इसके अलावा दो एसी कोच जिनमें 60 सीटें हैं, साथ ही दो विशिष्ट डाइनिंग कोच हैं जिनमें से हर एक में 64 यात्रियों के बैठने की सुविधा है। यात्रियों के लिए एक पेंट्री कार भी है।

ट्रेन में बेहतर सुरक्षा के लिए पर्सनल डिजिटल लॉकर, फुट मसाजर्स, शॉवर, क्यूबिकल्स, सिंगल सिटिंग सोफा, सीसीटीवी कैमरे, स्मोक डिटेक्शन अलार्म सिस्टम के साथ अलग से बैठने की जगह भी है।

ट्रेन में हाइजीनिक किचन कार और डाइनिंग कार की सुविधा होगी। यात्री शाकाहारी और मांसाहारी विकल्पों सहित ताज़े और गर्म भोजन का विकल्प चुन सकते हैं। पीने के लिए पैक किया हुआ पानी, चाय और कॉफी हर समय उपलब्ध रहेगा।

ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों को टिकट में कोई रियायत नहीं मिलेगी। इसके अलावा पांच साल से कम उम्र के बच्चों को किराए से छूट दी गई है। पांच साल से 12 साल तक के बच्चों से पचास फीसदी किराया लिया जाएगा।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप