नई दिल्ली। 1 जून यानी सोमवार से देश में काफी कुछ बदलने वाला है। पूरे देश में 25 मार्च से लॉकडाउन लगा हुआ था लेकिन अब इसमें धीरे धीरे राहत दी जा रही है। सोमवार से लॉकडाउन में राहत के साथ ही आपके दैनिक जीवन यापन से जुड़ी कई चीजों में बड़ा बदलाव भी होने वाला है। इनमें आपको सबसे ज्यादा बदलाव यातायात नियमों में देखने को मिलेगा। 

देश में लॉकडाउन का चौथा चरण समाप्त होने के साथ ही 1जून से पटरियों पर 200 नियमित ट्रेनें दौड़ने लगेंगी। 30 राजधानी स्पेशल ट्रेनें पहले से ही चल रही हैं। अगर आप भी जल्द अपने घर जाना चाहते हैं हम आपको इन ट्रेनों का पूरा टाइम टेबल, स्टेशन और स्टॉपेज की पूरी जानकारी देने जा रहे हैं। इससे आपको सफर करने में आसानी होगी।  ये भी सवाल उठ रहा है कि क्‍या ये ट्रेनें हमारे घर, शहर के स्‍टेशन पर रुकेंगी या नहीं।

ऐसे में रेलवे ने इन शंकाओं का समाधान करने के लिए इन ट्रेनों का विस्‍तृत विवरण सार्वजनिक रूप से प्रकाशित किया है। लिहाजा इस लिस्‍ट के आधार पर हम आपको बता रहे हैं स्पेशल ट्रेनों की सारी डिटेल जिससे टिकट रिजर्वेशन कराते वक्त आपको दिक्कत न हो।

ट्रेनों के संचालन के सामान्य होने के बारे में भारतीय रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा कि चरणबद्ध तरीके से ट्रेनों का संचालन सामान्य होगा। एक जून के बाद अगले चरण में शताब्दी एक्सप्रेस, वंदे भारत, गरीब रथ और दुरंतो एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा सकता है।

 भारतीय रेल 1 जून से 200 ट्रेन चलाने जा रहा है। इंडियन रलवे ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है। जानकारी के मुताबिक यह सभी ट्रेन नॉन एसी रहेंगी। यह उन लोगों के लिए एक बड़ा राहत भरा कदम होगा जो लोग लॉकडाउन की वजह से दूसरे शहर में अपने घर से दूर फंसे हुए हैं। अब लोग इन ट्रेन के माध्यम से आसानी से अपने घर पहुंच जाएंगे।

यात्रियों को कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए एहतियात बरतने को कहा गया है। साथ ही रेलवे ने सूचित किया है कि स्टेशनों में भीड़ और सुरक्षा को देखते हुए फेस मास्क का इस्तेमाल करें। साथ ही शारीरिक दूरी का पालन करने को भी कहा गया है।

इसके अलावा रेल मंत्रालय ने कहा है कि अब यात्री टिकट रिजर्वेशन के लिए 120 दिन यानी 4 महीने पहले से ही बुकिंग करा सकते हैं। रेलवे ने फिलहाल यात्रियों को सिर्फ एक महीने पहले तक की ही एडवांस बुकिंग की सुविधा दे रखी है। नया नियम 31 मई सुबह से लागू हो जाएगा।

जरूरी हो तभी ये लोग करें यात्रा

भारतीय रेलवे ने पहले ही गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों, गर्भवती महिलाओं और 65 साल से अधिक उम्र के लोगों से अपील की थी कि बहुत आवश्यक होने पर ही ट्रेन से यात्रा करें। रेल मंत्रालय ने भी एक बयान जारी कर लोगों से अपील की है कि केवल आवश्यक होने पर ही यात्रा करें।

यात्रा से पहले इन बातों का रखना है ध्‍यान

सिर्फ कन्‍फर्म/आरएसी टिकट वाले पैसेंजर्स को ही स्‍टेशन के भीतर आने और ट्रेन में चढ़ने दिया जाएगा।

जिन्‍हें यात्रा करनी है, वे ट्रेन रवाना होने से 90 मिनट पहले स्‍टेशन जरूर पहुंच जाएं।

रेलवे स्‍टेशन पर एंट्री और एग्जिट के वक्‍त स्‍क्रीनिंग होगी। इसके अलावा हमेशा मास्‍क पहने रखना होगा।

रेलवे आपसे किसी तरह का कैटरिंग चार्ज किराये में नहीं वसूलेगा।

ट्रेन में आपको कंबल, चादर या तकिया नहीं मिलेगा।

यात्री आरोग्‍य सेतु ऐप इंस्‍टॉल करें और सोशल डिस्‍टेंसिंग को सख्‍ती से फॉलो करें।

सभी यात्रियों को मिलेगी सीट

इन 200 स्पेशल ट्रेनों का किराया सामान्य होगा और आरक्षित होने के कारण सामान्य कोचों के लिए सेकेंड सीटिंग (2S) का किराया लिया जाएगा और सभी यात्रियों को सीट उपलब्ध कराई जाएगी। इन ट्रेनों में पार्सल और सामान की भी बुकिंग हो सकेगी। इसके अलावा करंट बुकिंग, रोड साइड पड़ने वाले स्टेशनों के लिए सीटों का तत्काल कोटा आवंटन जैसे नियम नियमित ट्रेनों के टाइम टेबल के मुताबिक ही होंगे।

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस