गुवाहाटी, प्रेट्र। सीबीआइ ने सोमवार को इंडियन आयल कार्पोरेशन (आइओसी) के असम डिवीजन के महाप्रबंधक (सेल्स) को दो लाख रुपये घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया।

सीबीआइ ने मंगलवार को एक बयान में बताया, आइओसी के अधिकारी दिब्यज्योति दत्ता ने नगालैंड के एक आटो सेंटर एजेंट लालचंद चौधरी उर्फ लालाराम से तुली में खुदरा दुकान के आवंटन के लिए पांच लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी।

दत्ता को सोमवार को एक होटल में रिश्वत की पहली किस्त के रूप में दो लाख रुपये लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया गया। दत्ता पर असम समेत पूरे पूर्वोत्तर के पेट्रोल पंप मालिक और केरोसिन आयल डिपो के संचालकों से रिश्वत मांगने और लेने के आरोप लगते रहे थे।

सीबीआइ के बयान में बताया गया है कि भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने आरोपित अधिकारी के अलावा रविवार को आइपीसी की धारा 120बी (आपराधिक षड्यंत्र) व भ्रष्टाचार निरोधक कानून (संशोधित) 2018 के तहत एक महिला समेत पांच लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। इनमें दत्ता, लालाराम व बेंदनगनारो एओ आदि शामिल हैं।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप