नई दिल्ली, प्रेट्र। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आइओसी) ने संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएसए) से कच्चे तेल की खरीद के लिए पहली बार टर्म-टेंडर सौदा किया है। कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सौदा 60 लाख बैरल कच्चे तेल के लिए हुआ है, जिसकी आपूर्ति इस वर्ष नवंबर से अगले वर्ष जनवरी तक की जाएगी।

वर्तमान में आइओसी समेत सभी तेल कंपनियां अमेरिका से प्रत्येक खेप के दाम के हिसाब से कच्चे तेल का आयात करती रही हैं। सरकारी नीतियों के मुताबिक तेल कंपनियां किसी भी गैर-सरकारी विदेशी कंपनी से किसी तय अवधि के लिए खरीद संबंधी करार नहीं कर सकती हैं। इसी वजह से आइओसी और अन्य तेल कंपनियों ने ज्यादातर मध्य-पूर्व देशों की सरकारी तेल कंपनियों से सालाना आयात करार किया हुआ है।

अधिकारी ने कहा कि सौदे के तहत आइओसी को इस वर्ष नवंबर से अगले वर्ष जनवरी तक हर महीने एक-एक अति विशाल कच्चा तेल वाहक पोत (वीएलसीसी) भेजा जाएगा। इसके तहत कंपनी पहला वीएलसीसी इस वर्ष नवंबर में गुजरात के वाडीनार बंदरगाह, दूसरा दिसंबर में गुजरात के ही मुंद्रा बंदरगाह और तीसरा अगले वर्ष जनवरी में ओडिशा के पारादीप बंदरगाह पर हासिल करेगी।

इन खेपों को मिलाकर इस वर्ष अप्रैल के बाद आइओसी अमेरिका से 1.6 करोड़ टन कच्चे तेल का सौदा कर चुकी है। गौरतलब है कि भारत ने पिछले वर्ष अक्टूबर से अमेरिका से कच्चे तेल का आयात शुरू किया था। तब से भारतीय तेल कंपनियां टेंडर-आधार पर वहां से कच्चा तेल खरीद रही हैं।

Posted By: Arun Kumar Singh