ईस्ट सिक्किम, एएनआइ।सिक्किम में भारतीय सेना ने भारी बर्फबारी के बीच फंसे 1500 से अधिक पर्यटकों को बचाया है।सिक्किम में जवाहरलाल नेहरू मार्ग पर भारी बर्फबारी के बाद वहां फंसे हुए लगभग 1500 पर्यटकों को भारतीय सेना द्वारा बचाया गया है। लो विजिबिलिटी और खराब मौसम के बावजूद सेना ने 27 दिसंबर को बचाव अभियान चलाया।

फंसे हुए पर्यटकों को मौसम और ऊंचाई पर उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भोजन, आश्रय, गर्म कपड़ों और दवाओं सहित राहत प्रदान की गई। भारतीय सेना के एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि लगभग 300 टैक्सियों में यात्रा कर रहे ये पर्यटक शुक्रवार शाम को नाथू ला दर्रा - त्सोमगो झील से लौट रहे थे और जवाहरलाल नेहरू मार्ग पर विभिन्न स्थानों पर फंसे हुए थे।

सेना का रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों सहित फंसे हुए पर्यटकों को आर्मी कैंप के 17वें मील में रखा गया है। सेना ने जेसीबी और डोजर्स को बर्फ हटाने और जल्द से जल्द सड़क संपर्क बहाल करने के लिए प्रदान किया।लोगों को बचाने की कवायद अभी भी जारी है और यह तब तक जारी रहेगी जब तक सभी फंसे हुए पर्यटकों को सुरक्षित रूप से राज्य की राजधानी गंगटोक तक नहीं पहुंचाया जाता।

एक बचाई गई पर्यटक मीणा ने कहा, 'सेना ने तुरंत कार्रवाई शुरू की और पर्यटकों को बचाया।उन्हें 17th मील क्षेत्र में एक शिविर में लाया गया और भोजन और दवाइयां दी गईं। पर्यटकों को राज्य की राजधानी में स्थानांतरित करने की फिलहाल व्यवस्था की जा रही है।'

मौसम विभाग ने जताई बारिश की संभावना

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, गंगटोक में अगले सप्ताह आसमान में बादल छाए रहने और बारिश होने की संभावना है।मौसम विभाग ने अपने अखिल भारतीय मौसम चेतावनी बुलेटिन में कहा है कि उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, असम, मेघालय, नागालैंड में घने कोहरे की वजह से घने कोहरे की संभावना है।

इसे भी पढ़ें: उत्‍तर भारत में जानलेवा हुई ठंड, उत्‍तर प्रदेश में 28 मरे, हरियाणा में रेड, दिल्‍ली में ऑरेंज अलर्ट

इसे भी पढ़ें: कोहरे ने विमानों और ट्रेनों की रफ्तार पर लगाया ब्रेक, अब तक 4 फ्लाइट और 24 ट्रेनें प्रभावित

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस