जम्मू, (राज्य ब्यूरो)। दक्षिण कश्मीर से कुछ दिन पहले गायब हुआ सेना का एक जवान आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल हो गया है।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार सेना का जवान इंद्रीस मीर सेना की जम्मू कश्मीर लाइट इंफैट्री यूनिट में तैनात था। अधिकारियों के अनुसार यह जवान दक्षिण कश्मीर के शोपियां से गायब था। वह दो अन्य स्थानीय युवाओं के साथ हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ है। दोनों युवा भी कुछ दिन से गायब थे। पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि मीर के परिजनों ने उसे लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं जवान की एक तस्वीर बंदूक के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिससे उसके आतंकी संगठन में शामिल होने की आशंका जताई जा रही है। मीर सेना की बिहार 12 जकली टुकड़ी का हिस्सा था। पिछले हफ्ते गुरुवार को ही वह शोपियां के साफनाग में अपने घर लौटा था।

वहीं, सेना का कहना है कि उन्हें जवान के आंतकी संगठन में शामिल होने की कोई भी जानकारी नहीं है। उनके पास उसके गायब होने की रिपोर्ट है। पुलिस के अनुसार मीर को झारखंड में तैनात किया था। वह इस आदेश से नाखुश था। इस मामले में सेना फिलहाल अपने स्तर से जांच कर रही है।

गौरतलब है कि इसी साल मार्च में तहरीक-ए-हुर्रियत के चीफ मोहम्मद अशरफ सहराई के बेटे की भी सोशल मीडिया पर ऐसी ही एक तस्वीर वायरल हुई थी। अशरफ सहराई का बेटा जुमे की नमाज पढ़ने गया था, जिसके बाद वह घर नहीं लौटा और कुछ दिन बाद सोशल मीडिया पर उसकी एक-47 हाथ में पकड़े हुए एक तस्वीर सामने आई। हालांकि, परिवार ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट भी लिखाई थी।

By Arti Yadav