नई दिल्ली, जेएनएन। कोरोना वायरस के खिलाफ नौ महीने पहले शुरू हुए टीकाकरण अभियान में भारत इतिहास बनाने के कगार पर खड़ा है। भारत गुरुवार को 100 करोड़ डोज लगाने के आंकड़े को पार करने के साथ ही दुनिया के सामने मिसाल पेश करेगा। कोरोना महामारी के शुरू होने के बाद भारत को लेकर तमाम तरह की आशंकाएं जताई गई थीं। 130 करोड़ से ज्यादा की आबादी में सभी पात्र लोगों को टीका लगाने के मैराथन काम को लेकर भारत की क्षमता पर सवाल खड़े किए गए थे। टीके की उपलब्धता को लेकर भी आशंका जताई गई थी। गुजरते वक्त के साथ भारत ने न सिर्फ इन सभी आशंकाओं झुठलाते और सवालों को गलत ठहराते हुए अपने नागरिकों को टीके का सुरक्षा कवच उपलब्ध कराने की राह पर तेजी से आगे बढ़ता रहा बल्कि अब एक अरब डोज लगाने के मील के पत्थर को पार करने की दहलीज पर खड़ा है।

इस तरह हुई थी शुरुआत

भारत का टीकाकरण अभियान इस साल 16 जनवरी को शुरू हुआ था। पहले चरण में तीन करोड़ डाक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण शुरू किया गया था। आक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित और सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा उत्पादित कोविशील्ड और भारत बायोटेक द्वारा विकसित और उत्पादित कोवैक्सीन के साथ टीकाकरण का सफर शुरू हुआ। जैसे टीके का उत्पादन बढ़ता गया, टीकाकरण के सफर में विभिन्न समूह जुड़ते गए।

ऐसे बढ़ता गया दायरा

एक मार्च से 60 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों और 45-60 वर्ष के बीच पहले से गंभीर बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों का टीकाकरण शुरू किया गया था। इनमें शुगर और उच्च रक्तचाप जैसी 20 गंभीर बीमारियां शामिल थीं। एक अप्रैल से 45 साल से अधिक के सभी लोगों और एक मई से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण शुरू किया गया था।

188 करोड़ डोज की पड़ेगी जरूरत

केंद्र सरकार ने 31 अक्टूबर तक सभी वयस्क लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा है। इनकी जनसंख्या करीब 94 करोड़ है। इसके लिए कुल 188 करोड़ डोज की जरूरत पड़ेगी। उत्पादन बढ़ने के साथ ही पर्याप्त डोज की व्यवस्था हो भी गई है। बुधवार रात आठ बजे तक 70.40 करोड़ लोगों को पहली डोज और 29.13 करोड़ लोगों को दूसरी यानी दोनों डोज लगाई जा चुकी थीं।

100 करोड़ डोज की उपलब्धि पर जश्न की तैयारी

समाचार एजेंसी प्रेट्र के मुताबिक 100 करोड़ डोज लगाने के लक्ष्य को हासिल करने के अवसर पर भाजपा ने जश्न मनाने की तैयारी की है। इसके तहत टीकाकरण अभियान को सफल बनाने में योगदान देने वाले लोगों का पार्टी आभार जताएगी।

भाजपा के दिग्‍गज संभालेंगे कमान

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा इस मौके पर गुरुवार को गाजियाबाद के इंदिरापुरम स्थित कैलाश मानसरोवर भवन में आयोजित कार्यक्रम में सुबह 10:30 बजे शिरकत करेंगे। वह टीकाकरण केंद्रों के संचालन की समीक्षा भी करेंगे। वहीं अन्य सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भाजपा महासचिव दुष्यंत गौतम लखनऊ में और अरुण सिंह बेंगलुरु में होंगे।

लाउडस्पीकर से घोषणा करने की तैयारी

सरकार ने भी इस मौके को यादगार बनाने के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। नई दिल्ली में लाल किले पर तिरंगा फहराया जाएगा। ट्रेन, प्लेन और जलयान में लाउडस्पीकरों से सौ करोड़ डोज लगाने की उपलब्धि की घोषणा की जाएगी। 

तिरंगे से रोशन होंगे विरासत स्‍थल

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग कोविड रोधी वैक्‍सीन की 100 करोड़ डोज दिए जाने के मौके पर देश भर में 100 विरासत स्मारकों को तिरंगे से रोशन करने की योजना बना रहा है। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारियों, अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं, वैज्ञानिकों, वैक्सीन निर्माताओं और नागरिकों के सम्‍मान में ऐसा करेगा...

उपलब्धि पर खास गीत किया जाएगा लांच

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया गुरुवार को वैक्सीन की 100 करोड़ डोज लगाए जाने के मौके पर एक गीत और एक डाक्‍यूमेंट्री फिल्म की लांचिंग करेंगे। सरकार की ओर से जारी आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि मंडाविया दिल्‍ली के लाल किले में देश के टीकाकरण अभियान की इस खास उपलब्धि पर खास गीत और फिल्म लांच करेंगे।

Edited By: Krishna Bihari Singh