नई दिल्ली, जेएनएन। इंडोनेशिया में पिछले दिनों भूकंप के बाद आई सुनामी में मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। ताज़ा जानकारी के मुताबिक इस सुनामी में 1234 लोगों की मौत हो गई है। मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। भारत ने इंडोनिशया की मदद के लिए तीन समुद्री जहाज़ों को इंडोनेशिया रवाना किया है। इन जहाज़ों में करीब 30,000 लीटर बोतलबंद पानी, 15,000 लीटर जूस, 500 लीटर दूध, 700 किलो बिस्किट आदि राहत सामग्री है।

इंडोनेशिया के राष्ट्रपति से की पीएम मोदी ने बात
सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो से फोन पर बात की। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने उनके और भारत के लोगों की तरफ से इंडोनेशिया में आई सुनामी और भूकंप के कारण मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की। वहीं इस प्राकृतिक आपदा से हुई हानि के बाद इंडोनेशिया की अंतर्राष्ट्रीय सहायता के लिए अपील के जवाब में, प्रधानमंत्री ने इंडोनेशिया के राष्ट्रपति को पड़ोसी और मित्र के रूप में हर संभव सहायता प्रदान करने का वादा किया। राष्ट्रपति विडोडो ने शोक व्यक्त करने और सहायता की पेशकश के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद किया।

1234 लोगों की मौत
इंडोनेशिया में आए सुनामी से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस भयंकर तबाही ने अब तक 1024 लोगों की जान ले ली। इंडोनेशिया की सेना बचाव कार्य में जुटी हुई है, लेकिन देश के राष्ट्रपति ने अंतरराष्ट्रीय मदद की गुहार लगाई है। सुनामी से 3,40,000 की आबादी वाला शहर पालू सर्वाधिक प्रभावित हुआ है। पूरे शहर में तबाही का मंजर है, जगह-जगह शव बिखरे पड़े हैं। इमारतें नष्ट हो गई हैं और कई लोग बेघर हो गए हैं।

Posted By: Arti Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस