नई दिल्ली, एएनआइ। देश के उद्योग और आंतरिक व्यापार विभाग ने लॉकडाउन अवधि के दौरान विभिन्न हितधारकों द्वारा भेजी जा रही चीजों, विनिर्माण, आवश्यक वस्तुओं की डिलीवरी और परिवहन की वास्तविक समय स्थिति की निगरानी के लिए एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है।

उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (DPIIT) ने 25 मार्च से 14 अप्रैल के दौरान आवश्यक वस्तुओं के विनिर्माण, परिवहन और वितरण में शामिल विभिन्न हितधारकों के सामने आने वाली कठिनाइयों की निगरानी और समाधान के लिए एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है।यह कंट्रोव रूम बुधवार को स्थापित किया गया और इसका उद्देश्य लॉकडाउन के दौरान हितधारकों द्वारा सामना किए गए मुद्दों को हल करना है।

हितधारक सीधे टेलीफोन नंबर या ईमेल (+91 11 23062487, ईमेल-controlroom-dpiit@gov.in) का उपयोग करके नियंत्रण कक्ष से संपर्क कर सकते हैं, जिसके बाद संबंधित राज्य सरकार की मदद से चिंताओं को हल करने के लिए जिला और पुलिस और अन्य एजेंसियों द्वारा उचित कार्रवाई की जाएगी।

हालांकि, भोजन, स्वास्थ्य सेवा सहित अन्य आवश्यक सेवाओं को छूट दी गई है और इन वस्तुओं और सेवाओं को प्रदान करने में लगे विभिन्न हितधारकों को देश भर में काम करने की अनुमति दी गई है।

मुनाफाखोरों को सरकार की कड़ी चेतावनी

कोरोना के प्रकोप को रोकने के लिए 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा के बाद आवश्यक वस्तुओं के मूल्य में महंगाई का रुख दिखने लगा है। सरकार ने इसे गंभीरता से लेते हुए मुनाफाखोरों को कड़ी चेतावनी दी है। केंद्रीय उपभोक्ता एवं खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि अनाज व अन्य जरूरी चीजों की आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है।गृह मंत्रलय ने भी सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और पुलिस प्रमुखों को लिखे पत्र में कहा है कि वे सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह पालन कराएं व लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करें।

पत्र के मुताबिक, लॉकडाउन का पूरी तरह पालन कराना जरूरी है मगर आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति भी उतनी ही जरूरी है। इसके लिए एक नोडल ऑफिसर की नियुक्ति की जा सकती है।पासवान ने कालाबाजारी करने वाले निर्माताओं व व्यापारियों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। बाजार में जिंसों की आपूर्ति सुनिश्चित करने को लेकर केंद्र निरंतर राज्यों के संपर्क में है। उन्होंने कहा, जिंस बाजार में किसी चीज की कमी नहीं है। सरकार ने कई अहम कदम उठाए हैं।दरअसल, पिछले एक सप्ताह के दौरान कई जिंसों के मूल्य बढ़े हैं जिनमें दालें और सब्जियां प्रमुख हैं।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस