नई दिल्ली, एएनआइ। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बांग्लादेश में लोकतंत्र की स्थापना में भारत का महत्पवपूर्ण योगदान रहा है। रक्षा मंत्री ने रविवार को कहा कि भारत ने बांग्लादेश की विचारधारा को सफल बनाने में योगदान दिया है। साथ ही कहा कि पिछले 50 वर्षों में बांग्लादेश की विचारधारा में विकास हुआ है। इसके अलावा बांग्लादेश तेजी से विकास के रास्ते से जुड़ा है, जो दुनिया के बाकी हिस्सों के लिए प्रेरणा है।

1971 के युद्ध और भारत-बांग्लादेश संबंध को सफल बनाने वाली भारत की ऐतिहासिक विजय के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में स्वर्णिम विजय पर्व समारोह को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, 'भारत ने विचारधारा के संविधान को सफल बनाने में योगदान दिया है और हम वास्तव में धन्य हैं कि पिछले 50 वर्षों में सफल बांग्लादेश ने विकास के रास्ते को तेजी से जोड़ा है, जो दुनिया के बाकी हिस्सों के लिए एक प्रेरणा है।'

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज हम प्रत्येक व्यक्ति 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के 'स्वर्णिम विजय वर्ष' पर आयोजित  'विजय पर्व' का अवलोकन करने के लिए मौजूद इंडिया गेट पर एकत्रित हुए।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 1971 के युद्ध में भारत की ऐतिहासिक जीत और भारत-बांग्लादेश (India-Bangladesh) दोस्ती के 50 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आज राजधानी इंडिया गेट पर स्वर्णिम विजय पर्व का उद्घाटन किया। रक्षा मंत्रालय के अनुसार 1971 के युद्ध के दौरान इस्तेमाल किए गए प्रमुख हथियारों और उपकरणों को प्रमुख लड़ाइयों के अंशों के साथ प्रदर्शित किया जाएग। बता दें कि उद्घाटन के बाद ये कार्यक्रम आम लोगों के लिए खुला रहेगा। समापन समारोह 13 दिसंबर को होगा आयोजित होगा, जिसमें राजनाथ सिंह शामिल होंगे। बांग्लादेश सहित कई गणमान्य व्यक्ति भी इस कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे। बता दें कि पिछले महीने 24 नवंबर को भारत-बांग्लादेश दोस्ती के 50 साल पूरे हुए थे।

Edited By: Pooja Singh