नई दिल्ली (जेएनएन)। कुलभूषण जाधव मामले में 17 जनवरी 2018 के अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के आदेश पर भारत ने आज न्यायालय में अपना जवाब सौंपा। बताया जाता है कि भारत ने पाकिस्तान के द्वारा 1963 में दूतावास संबंधों पर वियना समझौते के प्रावधानों के भारी उल्लंघन को लेकर 8 मई, 2017 को सबसे पहले न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था।

इसके बाद न्यायालय ने 18 मई 2017 को भारत द्वारा उल्लिखित तथ्यों का विवरण देते हुए पाकिस्तान के सैन्य न्यायालय द्वारा भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को दी जाने वाली सजा पर रोक लगाने के आदेश जारी किये थे।

न्यायालय के आदेश के अनुसार, भारत ने 13 सितंबर 2017 को इस मामले में लिखित याचिका न्यायालय में दायर की थी जबकि पाकिस्तान ने इसके जवाब में 13 दिसंबर 2017 को अपनी याचिका दायर का थी। आज भारत ने पाकिस्तान की इन याचिकाओं को जवाब न्यायालय में सौंप दिया है।

न्यायालय की तरफ से अब पाकिस्तान को 17 जुलाई 2018 तक इस पर अपनी प्रतिक्रिया दर्ज करने का समय दिया गया है। भारत अपनी तरफ से जाधव के अधिकारों को सुरक्षित और संरक्षित करने के सभी संभव प्रयास करने के लिए प्रतिबद्ध है।

Posted By: Srishti Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस