नई दिल्ली, एजेंसियां। महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और दक्षिण भारत में बढ़ते मामलों के साथ देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या मंगलवार को 23 लाख को पार कर गई। हालांकि, कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच भारत में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। देश में कोरोना वायरस के 16 लाख से ज्यादा मरीज ठीक हो चुके हैं। मरीजों के उबरने की दर करीब 70 फीसद हो गई है, जबकि मृत्यु दर दो प्रतिशत से भी नीचे आ गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से मंगलवार सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक बीते चौबीस घंटे के दौरान 60,963 नए संक्रमित केस मिले हैं और कुल मामलों की संख्या 23 लाख 29 हजार 639 हो गई है। लेकिन सबसे अच्छी बात ये है कि इनमें से 16 लाख 39 हजार 600 मरीज पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में कोरोना के 6 लाख 43 हजार 948 सक्रिय मामलों बचे है। कोरोना महामारी के चलते अब तक देशभर में 46,091 मरीजों की जान भी जा चुकी है।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के अनुसार 11 अगस्त तक कोरोना वायरस के लिए 2 करोड़ 60 लाख 15 हजार 297 नमूनों की जांच की जा चुकी है, जिनमें से 7 लाख 33 हजार 449 नमूनों की जांच मंगलवार को की गई। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि 31 मार्च को 88.83 फीसद सक्रिय मामलों की तुलना में इस समय इनकी संख्या 28.21 फीसद रह गई है। इनमें से भी एक फीसद से भी कम मरीज वेंटीलेटर पर हैं, जबकि तीन फीसद से कम मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। आइसीयू में चार फीसद से कम मरीज हैं।