पणजी, पीटीआई। कोरोना वायरस की वजह से देश में लगे लॉकडाउन का आज 7वां दिन है। लॉकडाउन की वजह से हजारों पर्यटक देशभर में फंसे हुए हैं। एक पर्यटन संगठन ने कहा कि लॉकडाउन के कारण लगभग 2,000 विदेशी पर्यटक गोवा में फंसे हुए हैं और उन्हें उनके देशों में भेजने के प्रयास किया जा रहा है।

ट्रैवल एंड टूरिज्म एसोसिएशन ऑफ गोवा (टीटीएजी) के अध्यक्ष सवियो मेसियस ने कहा कि गोवा वापस आने वाले पर्यटकों में से अधिकांश ब्रिटिशर्स हैं। कई अन्य देशों के पर्यटकों को पहले ही बाहर निकला जा चुका है।

उन्होंने कहा, 'गोवा में 1,500 से 2,000 विदेशी फंसे हुए हैं। इनमें से ज्यादातर ब्रिटिशर्स हैं। हमें कई विदेशी लोगों के फोन आ रहे हैं, जो निकाले जाने की अपील कर रहे हैं। इनमें से कुछ ने ब्रिटिश दूतावास और गोवा पुलिस से संपर्क किया है।'

सवियो ने कहा कि इनमें से कई पर्यटक लंबे समय से गोवा में छुट्टियां मना रहे थे। उसमें से कई पर्टक छह महीने पहले से आए हुए हैं। ज्यादातर किराए के घरों में रह रहे हैं और आवश्यक वस्तुओं की खरीद की समस्या का सामना कर रहे हैं। हम उनकी हर संभव मदद कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि पर्यटकों के लिेए सबसे बड़ी समस्या एयरपोर्ट तक पहुंचना है, क्योंकि लॉकडाउन की वजह से टैक्सी नहीं चल रही हैं। इसलिए गोवा की सर्वोच्च पर्यटन संस्था टीटीएजी ने विदेशियों को एयरपोर्ट पहुंचाने के लिए लगभग 40 टैक्सी ड्राइवरों को विशेष परमिट जारी किया है। कुछ विदेशी पर्यटक राज्य में ही रहना चाहते हैं, क्योंकि उनके वीजा अपने आप रिन्यू हो जाएंगे।

मंगलवार को जर्मनी और अन्य यूरोपीय संघ के देशों के 317 पर्यटकों को लेकर एक विशेष उड़ान गोवा से फ्रैंकफर्ट के लिए रवाना हुआ। रूस और उसके पड़ोसी देशों के 133 यात्रियों को लेकर रोसिया एयरलाइंस की एक फ्लाइट ने मंगलवार को गोवा से उड़ान भरी। गोवा एयरपोर्ट ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा कि यह राज्य की छठी उड़ान है।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस