जम्मू (राज्य ब्यूरो)। भारत-चीन की बॉर्डर पर्सनल मीटिंग पूर्वी लद्दाख में हुई। इस दौरान भारतीय और चीनी सेना के अधिकारियों ने वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति बनाए रखने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

भारतीय और चीन के ध्वज को सलामी देने के साथ शुरू हुई बैठक में सीमा पर सौहार्द बनाए रखने के लिए संबंधों को और बेहतर बनाने पर जोर दिया गया। दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों ने विश्वास दिलाया कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति बनाए रखने के लिए एक-दूसरे को पूरा सहयोग दिया जाएगा।

भारतीय सेना के अधिकारियों के दल का नेतृत्व मेजर जनरल अरविंद कपूर ने किया। चीन की सेना के अधिकारियों के दल का नेतृत्व सीनियर कर्नल गैन वी हैन ने किया। सैन्य अधिकारियों ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर एक-दूसरे को विश्वास में लेकर कार्रवाई करने की परंपरा को भी कायम रखने पर जोर दिया।

इस दौरान कुछ अन्य मुद्दों पर भी विचार विमर्श हुआ। बैठक एक दूसरे को यह विश्वास दिलाने के साथ खत्म हुई कि सौहार्द बनाए रखने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति बनाए रखने के लिए पूर्वी लद्दाख में कई वर्षो से दोनों सेनाओं के बीच बैठकें हो रही हैं। इनमें से कुछ बैठकें चीनी क्षेत्र तो कुछ भारतीय क्षेत्रों में होती हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Prateek Kumar