नई दिल्‍ली, एजेंसियां। आतंकवाद के मसले पर भारत और ब्रिटेन के संयुक्त कार्यदल की 14वीं बैठक 21-22 जनवरी को आयोजित की गई। विदेश मंत्रालय ने बताया कि भारत और यूके ने सभी तरह के आतंकवाद की कड़ी निंदा की। यही नहीं दोनों देशों ने दक्षिण एशिया में सीमा पार आतंकवाद के मसले पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने की जरूरत पर जोर दिया।

समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक हाल ही में हाउस ऑफ कामंस परिसर में चर्चा के दौरान ब्रिटेन की सरकार ने बहुसंख्यक हिंदुओं की भारी तादाद के बावजूद भारत में धार्मिक विविधता की प्रशंसा की थी। 

विदेश, राष्ट्रमंडल और विकास कार्यालय के मंत्री निगेल एडम्स ने कहा था कि भारत के सेक्युलर संविधान में सभी नागरिकों को बराबरी के अधिकार हासिल हैं। जिन लोगों को हमारी तरह भारत जाने का अवसर मिला है वे जानते हैं कि इंडिया गजब का देश है। भारत दुनिया में यह सबसे अधिक विविधताओं वाला देश है।

बीते दिसंबर महीने में भी ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब ने चार दिवसीय अपनी भारत यात्रा के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की थी। बैठक के बाद विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने बताया था कि बैठक में संबंधों को मजबूत करने को लेकर विस्‍तृत चर्चा की गई थी। दोनों नेताओं ने व्यापार, रक्षा, सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन और स्वास्थ्य के मसले पर बात की थी। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप