नई दिल्ली, प्रेट्र। दोनों देशों के युवा भारत-पाक रिश्ते की गुणवत्ता सुधारने में भूमिका निभा सकते हैं। भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहैल महमूद ने दूतावास में मंगलवार को युवाओं से शांति दूत बनने का आग्रह किया।

महाराष्ट्र प्रौद्योगिकी संस्थान (एमआइटी) पुणे से राजनीतिक नेतृत्व एवं सरकार में स्नातकोत्तर कर रहे 30 छात्रों के प्रतिनिधिमंडल से पाकिस्तानी उच्चायुक्त ने बातचीत की। उन्होंने खास तौर पर भारत और पाकिस्तान के युवाओं की भूमिका पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि युवा द्विपक्षीय रिश्ते की गुणवत्ता सुधारने में भूमिका निभा सकते हैं।

महमूद ने छात्रों से पाकिस्तान-भारत शांति का दूत बनने का आग्रह किया क्योंकि उन्हें जीवन में आगे बढ़ना है और विभिन्न क्षेत्रों में अपनी पेशेवर भूमिका निभानी है। भारत-पाक संबंध के ऐतिहासिक विकास पर टिप्पणी करते हुए उच्चायुक्त ने टकराव की हालत से भविष्य में सहयोग की स्थिति में बदले पर जोर दिया।

 

Posted By: Arun Kumar Singh