अमृतसर/इस्‍लामाबाद, एजेंसी। India Pakistan talk on Kartarpur Corridor महिंदर सिंह अरलीभन्न, गुरदासपुर। India Pakistan talk on Kartarpur Corridor भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव के बावजूद दोनों देशों के अधिकारियों के बीच शुक्रवार को करतारपुर कॉरिडोर परियोजना पर बातचीत हुई। डेरा बाबा नानक स्थित भारत-पाक जीरो लाईन पर हुई यह बैठक करीब दो घंटे तक चली। बैठक में श्रद्धालुओं के आने-जाने, सुविधाओं और पाकिस्तान की तरफ अभी तक पुल का निर्माण न होने संबंधी विचार विमर्श किया गया। भारत ने पाकिस्तान से उसके क्षेत्र में पुल के निर्माण में तेजी लाने पर जोर दिया गया।

करतारपुर कॉरि‍डोर पर भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों के बीच यह तीसरी बैठक थी। सूत्रों के मुताबिक अगले हफ्ते दोबारा भारत-पाक के बीच आटारी बार्डर पर बैठक हो सकती है। बैठक के लिए जीरो लाईन पर बीएसएफ की 10 बटालियन की ओर से टैंट लगाए गए थे। पाकिस्तान की तरफ भी पाक रेंजरों ने टैंट लगाकर अपने अधिकारियों के ठहरने का बंदोबस्त किया था। शुक्रवार को सुबह 10.35 पर शुरू हुई बैठक 12.40 बजे तक चली। 

बैठक में लैंड पोर्ट आर्थाटी आफ इंडिया के सीजीएम विशाल गुप्ता, विदेश मंत्रालय व होम मनिस्ट्री के एक-एक अधिकारी, लैंड पोर्ट आर्थाटी आफ इंडिया, इरीगेशन विभाग व बीएसएफ के अधिकारी इस बैठक में शामिल थे। सूत्रों ने बताया कि बैठक में श्रद्धालुओं के लिए सुविधा और पाकिस्तान की ओर पुल के निर्माण पर विचार विमर्श किया गया। सूत्रों ने बताया कि भारत-पाकिस्‍तान के अधिकारियों की अगले हफ्ते आटारी बार्डर पर बैठक होगी। इसमें करतारपुर कॉरिडोर पर विचार विमर्श किया जाएगा।  

पाकिस्‍तान का कहना है कि करतारपुर साहिब गलियारे को पूरा करने को लेकर प्रतिबद्ध है। बता दें कि यह कॉरिडोर गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती के मौके नवंबर में खोला जाना है। करतारपुर साहिब पाकिस्तान में रावी नदी के तट पर भारत के गुरुदासपुर जिला स्थित डेरा बाबा नानक श्राइन से करीब चार किलोमीटर दूर है। गुरु नानक वहां 18 साल तक रहे थे। यह लाहौर से करीब 120 किलोमीटर उत्तर-पूर्व में मौजूद है। 

उल्‍लेखनीय है कि भारत सरकार द्वारा अनुच्‍छेद-370 खत्‍म किए जाने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है। पाकिस्‍तान इस मसले पर दुनिया के बड़े देशों का समर्थन हासिल करने की कोशिशें कर रहा है लेकिन कोई भी देश उसके साथ आने को तैयार नहीं है। अमेरिका और चीन दोनों देशों ने उससे तनाव कम करने को लेकर कोशिशें करने का निर्देश दे चुके हैं लेकिन पाकिस्‍तान अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहा है। वह लगातार युद्ध की धमकियां दे रहा है। उसने मिसाइल परीक्षण करके और तनाव बढ़ाने की कोशिश की है। हालांकि, भारत उसके उकसावे वाली कोशिशों को कोई तूल नहीं दे रहा है। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!