नई दिल्ली, एजेंसी। भारत और बांग्लादेश के बीच सुरक्षा और सीमा प्रबंधन को लेकर 18वें संयुक्त कार्य समूह (JWG) की दो दिवसीय बैठक का अंतिम दौर शुरू हो गया है। बता दें कि दोनों देशों के बीच की बैठक 5 दिसंबर को दिल्ली में आयोजित की गई। इस बैठक के लिए भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व गृह मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव पीयूष गोयल कर रहे हैं।

इन मुद्दों पर होगी चर्चा

इस बैठक में दोनों ही देश आतंकवाद और उग्रवाद के सभी खतरों को दूर करने के लिए द्विपक्षीय व्यवस्था को मजबूत करने पर चर्चा करेंगे। इस बैठक में बांग्लादेशी प्रतिनिधिमंडल के बीच दो पड़ोसी देशों की आम चिंता के मुद्दों पर भी चर्चा की जाएगी।

इसके अलावा नकली भारतीय मुद्रा नोटों (FICN), ड्रग्स और हथियारों और गोला-बारूद की तस्करी, महिलाओं और बच्चों की तस्करी के खतरे से लेकर मानव तस्करी में शामिल व्यक्तियों, दलालों, एजेंटों के खिलाफ समन्वित कार्रवाई करने जैसे मुद्दों पर भी चर्चा की जाएगी।

Kerala News: मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचा सुरक्षा अधिकारी का सर्विस हथियार, टला बड़ा हादसा

आपसी सहयोग को बढ़वा देने के लिए हो रही बैठक

सूत्रों के मुताबिक, भारत-बांग्लादेश के बीच की हो रही बैठक का मकसद दोनों देशों के बीच संबंधों और आपसी सहयोग को बढ़ाने और मजबूत करने के लिए की जा रही है। उल्लेखनीय है कि भारत-बांग्लादेश के बीच 17वीं संयुक्त कार्य समूह की बैठक 16-17 नवंबर, 2015 को ढाका में आयोजित की गई थी।

इस बैठक में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व तत्कालीन केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि ने किया था वहीं बांग्लादेश के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व गृह मंत्रालय के तत्कालीन वरिष्ठ सचिव डॉ. मो. मोजम्मल हक खान ने किया था।

Mangaluru News: सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट करना पार्षद को पड़ा महंगा, कांग्रेस ने पार्टी से किया सस्पेंड

Edited By: Nidhi Avinash

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट