नई दिल्ली, प्रेट्र। कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच देश में 21 दिनों का लॉकडाउन फिलहाल चल रहा है। इस बीच रेलवे ने बड़ा फैसला लेते हुए पार्सल वैन चलाने का फैसला किया है, जिससे देश में जरूरी सामानों की आपूर्ति जारी रहेगी। भारतीय रेलवे के अधिकारियों ने आज समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि रेलवे ने देश में जरूरी सामानों की आपूर्ति को बनाए रखने के लिए पार्सल वैन चलाने का फैसला किया है।यह कदम रेलवे ने कोरोना वायरस के कहर को लेकर जारी 21 दिनों के लॉकडाउन को देखते हुए उठाया है।

गौरतलब है कि 22 मार्च से रेलवे ने यात्री ट्रेनों को निलंबित कर दिया था। इसके साथ ही रेलवे ने डिफ़ॉल्ट रूप से यात्री ट्रेनों से जुड़ी पार्सल वैन को भी निरस्त कर दिया था।पार्सल वैन, यात्री ट्रेनों के साथ जुड़ी रहती है, जिनमें मरोज के जरूरी सामान जिनमें ज्यादातर सब्जियों, दुग्ध उत्पाद और मछली जैसी आवश्यक वस्तुएं शामिल होती हैं।

रेलवे अधिकारियों ने जानकारी दी कि यह विशेष पार्सल एक्सप्रेस ट्रेनें नई दिल्ली-गौहाटी, नई दिल्ली-मुंबई, नई दिल्ली-कल्याण, नई दिल्ली-हावड़ा, चंडीगढ़-जयपुर और मोगा-छंगसारी रूट पर चलेंगी।उन्होंने कहा कि पार्सल वैन सेवाओं को फिर से शुरू करना आवश्यक था क्योंकि स्थानीय बाजारों में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में कमी हो रही थी क्योंकि लोडिंग-अनलोडिंग में लगे अधिकतर मजदूर, लॉकडाउन के कारण अपने गांव लौट गए हैं।

यात्री सेवाओं के निलंबन के कारण पार्सल वैन चल नहीं पा रही थी रेलवे अब ऐसी पार्सल वैन को निर्धारित मार्गों पर समय सारिणी पर चलाएगी।पटरियों पर ट्रैफ़िक कम होने से पार्सल वैन को तेज़ी से भेजने में आसानी होगी।

पार्सल वैन में मेडिकल सप्लाई, चिकित्सा उपकरण, छोटे पार्सल आकार में भोजन जैसी आवश्यक वस्तुओं को लेकर ले जाया जाएगा।संबंधित प्रभागों को अब स्थानीय जिला प्रशासन के साथ समन्वय करना होगा और पार्सल डिपो और माल-शेड में मजदूरों की तैनाती सुनिश्चित करनी होगी ताकि पार्सल वैन की सुचारू लोडिंग और अनलोडिंग सुनिश्चित की जा सके।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस